Friday, October 19, 2018
Home आध्यात्म तीर्थ स्थल

तीर्थ स्थल

तीर्थ स्थल ,आध्यात्म की खबरें

सुमेरिया सभ्यता में देवी-देवताओं का स्थान

सुमेरिया सभ्यता का उदय और संपूर्ण विकास 'दजला-फरात' नदियों की घाटी में हुआ था। प्रचीन काल में इसे मेसोपोटामिया कहा जाता है, जो आज...

द्वादश ज्योतिर्लिंग में एक वैद्यनाथ मन्दिर को क्यों कहते है “देवघर” त्रिशूल, की जहग...

द्वादश ज्योतिर्लिंग में एक ज्‍योतिर्लिंग का पुराणकालीन मन्दिर है जो भारतवर्ष के राज्य झारखंड में अतिप्रसिद्ध देवघर नामक स्‍थान पर अवस्थित है..पवित्र तीर्थ होने...

जाने श्री प्रिया शरण त्रिपाठी द्वारा इस सप्ताह का राशी फल..और करें अपनी मुश्किलें...

देश दीपक “सचिन” हमारे पोर्टल पर लगे इस समाचार में देश के सुप्रसिद्ध  ज्योरिषाचार्य पंडित श्री  प्रिया शरण त्रिपाठी जी के द्वारा समस्त राशियों के जातको...

इस शहर की रक्षा आज भी करते हैं महाबली भीम

आज हम आपको एक ऐसे शहर के बारे में बता रहें हैं जिसकी रक्षा आज भी महाभारत काल के महाबली भीम करते हैं, हालांकि...

ओंकारेश्वर….. ऊँ की पवित्र आकृति स्वरूप..द्वादश जयोतिर्लिंगों में से एक

  ओंकारेश्वर तथा महेश्वर ओंकारेश्वर:-ऊँ की पवित्र आकृति स्वरूप यह द्वीप सदृश मनोरम स्थल अनंतकाल से तीर्थ के रूप में मान्य है। यहां नर्मदा-कावेरी के संगम पर...
Bhimashankar Jyotirlinga in Maharastra,

भीमाशंकर मंदिर

मोटेश्वर महादेव के नाम से भी जाना जाता है पुणे से करीब 100 किलोमीटर दूर स्थित है बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है भीमाशंकर मंदिर प्रसिद्ध धार्मिक...

मकर संक्रांति पर यहां आते हैं भगवान अय्यप्पा

केरल के सबरीमाला मंदिर में मकर संक्रांति के तीसरे दिन भगवान अय्यप्पा की शोभायात्रा पहुंचती है। इस दिन भगवान अय्यपा के दर्शन करने से...

त्रिंबकेश्वर या त्र्यंबकेश्वर मंदिर का जानिए इतिहास और मान्यताएं…..

त्रिंबकेश्वर या त्र्यंबकेश्वर एक प्राचीन हिन्दू मंदिर है, जो भारत में नाशिक शहर से 28 किलोमीटर और नाशिक रोड से 40 किलोमीटर दूर त्रिंबकेश्वर...

सरगुजा और अंबिकापुर के तीर्थ स्थल.. मां महामाया की नगरी अंबिकापुर

सरगुजा संभाग मुख्यालय अम्बिकापुर  की पूर्वी पहाडी पर प्राचिन महामाया देवी का मंदिर स्थित है।  महामाया या अम्बिका देवी के नाम पर सरगुजा संभाग...

द्वारिका के अलावा इन शहरों को भी बसाया हैं भगवान श्रीकृष्ण ने

भगवान श्रीकृष्ण के बारे में अधिकतर लोग यहीं जानते हैं कि उन्होंने केवल द्वारिका नगरी को ही बसाया था पर असल में उन्होंने भारत में कई...
error: Content is protected !!