इस बार घर पर ही पढ़नी होगी नमाज… कुर्बानी के लिए ये है इस राज्य की सरकार की गाइडलाइन

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के मरकज़ी चांद कमेटी ने मंगलवार को चांद का दीदार न होने पर ऐलान किया कि देश में ईद-उल-अजहा यानी बकरीद का त्यौहार 01 अगस्त को मनाया जाएगा। कोरोना महामारी के इस दौर में योगी सरकार ने बकरीद की नमाज और कुर्बानी के लिए गाइडलाइन जारी की है। यूपी पुलिस की तरफ से जारी दिशा निर्देश के मुताबिक सभी लोगों को घर में ही नमाज अदा करना होगा। मस्जिद में सामूहिक नमाज अदा नहीं की जाएगी। बता दें दारुल उलूम और अन्य संगठनों द्वारा बकरीद को लेकर गाइडलाइन जारी करने की मांग की गई थी। मुस्लिम संगठनों द्वारा सामूहिक नमाज अदा करने की अनुमति मांगी गई थी।

दरअसल, सावन के आखिरी सोमवार को ही बकरीद पड़ रहा है, लिहाजा पुलिस ने विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिया है। कहा गया है कि कुर्बानी खुले में नहीं होगी, साथ ही प्रतिबंधित पशुओं की कुर्बानी नहीं दी जाएगी। धर्मगुरुओं से भी अपील की गई है कि वे इस गाइडलाइन के बाबत लोगों को जागरूक किया जाए।

इतना ही नहीं पुलिस को भी निर्देश दिए गए हैं कि छोटी सी छोटी घटना का भी संज्ञान लिया जाए और जो भी विधिक कार्रवाई हो उसका पालन किया जाए। पुलिस को इस दौरान विशेष सतर्कता और पेट्रोलिंग के निर्देश दिए गए हैं। इस दौरान सोशल मीडिया पर किसी तरह की अफवाह न फैले इसके लिए क्षेत्राधिकारी को विशेष निर्देश दिए गए हैं।

गैर मुस्लिम स्थानों पर कुर्बानी के अवशेष न हों

गाइडलाइन में कहा गया है कि गैर मुस्लिम स्थलों व क्षेत्रों में कुर्बानी के अवशेष न हों, इसे भी सुनिश्चित किया जाए। ऐसी स्थिति में विवाद उत्पन्न हो सकता है। लिहाजा विशेष सतर्कता बरतनी जरुरी है। गाइडलाइन में यह भी कहा गया है कि संवेदनशील क्षेत्रों को चिन्हित करते हुए वहां सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की जाए।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें-

Facebook, TwitterWhatsAppTelegramGoogle News