Home खेल जगत क्रिकेट टीम इंडिया में वापसी की झूठी आस लिए बैठे हैं यह दिग्गज...

टीम इंडिया में वापसी की झूठी आस लिए बैठे हैं यह दिग्गज क्रिकेटर, बीत चुकी हैं उम्र फिर भी नहीं ले रहे सन्यास!


FatafatNewsDesk: वर्तमान समय में भारत के कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो लंबे समय से इंटरनेशनल टीम से बाहर चल रहे हैं। उनकी टीम इंडिया में वापसी की संभावना पूरी तरह खत्म हो चुकी हैं। ऐसे में उनके लिए संन्यास ही आखिरी विकल्प बचा हैं। आइए कुछ ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जानते हैं।

अब इंडियन क्रिकेट टीम ने भविष्य की तरफ देखना शुरू कर दिया हैं। ऐसे में ईशांत शर्मा टीम से बाहर हो चुके हैं। उन्होंने तो कमेंट्री भी शुरू कर दी हैं। वनडे और टी20 में तो वैसे भी भारत के लिए उन्हें खेलने का मौका नहीं मिलता था। अब टेस्ट टीम से बाहर होने के बाद वापसी के रास्ते पूरी तरह बंद हो चुके हैं।

इस लिस्ट के दूसरे स्थान पर अपने ज़माने के स्टार लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने करीब 20 साल पहले भारत के लिए इंटरनेशनल डेब्यू किया था। अनिल कुंबले के संन्यास के बाद ही उन्हें लगातार मौके मिलने लगे थे। भारत के लिए उन्होंने 22 टेस्ट, 36 वनडे और 10 टी20 खेले हैं। भारत के लिए आखिरी मैच उन्होंने फरवरी 2017 में खेला था। 40 साल के मिश्रा को अब घरेलू क्रिकेट में भी मौका नहीं मिलता। वह, सिर्फ अब आईपीएल में नजर आते हैं।

fb img 17078137426395440023590758090718

इस लिस्ट के तीसरे स्थान पर हैं। साल 2019 वर्ल्ड कप तक केदार जाधव भारतीय वनडे टीम के प्रमुख खिलाड़ी थे। गेंद के साथ ही वह बल्ले से भी योगदान देते थे। लेकिन उनका फॉर्म खराब होता चला गया। 38 साल के केदार भारतीय टीम से बाहर हैं।

इसके साथ ही, दिनेश कार्तिक फुल टाइम कमेंटेटर बन चुके हैं। जो एक समय टीम इंडिया के महत्वपूर्ण विकेटकीपर बल्लेबाज हुआ करते थे। दिनेश कार्तिक को अब टीम इंडिया में दोबारा मौका नहीं मिलने वाला हैं।

इन्हें भी पढ़िए – IND vs ENG: 3 साल बाद टीम इंडिया में फिर लौटा ये स्टार खिलाड़ी, भारत-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज में किया गया शामिल

IND vs ENG: टीम इंडिया की Playing 11 पर बड़ा अपडेट, राजकोट टेस्ट में डेब्यू करेगा 26 साल का ये खिलाड़ी!

IND vs ENG: टीम इंडिया में जगह ना मिलने पर इस खिलाड़ी का छलका दर्द! कहा- सोशल मीडिया पर कर दिया ऐसा पोस्ट

SGG यूनिवर्सिटी अम्बिकापुर में छात्रों ने किया जमकर हंगामा, छात्रों ने लगाया यूनिवर्सिटी पर कॉपी चेक में गड़बड़ी का आरोप