मंत्री सिंहदेव के निर्देश को ठेंगा…तभी तो भाजपा नेता रेत माफिया, शासन-प्रशासन को दे रहा है खुलेआम चुनौती… रेत का अवैध उत्खनन जोरो पर.. स्थानीय प्रशासन नतमस्तक!..

बलरामपुर..(कृष्णमोहन कुमार)..ऐसा आपने शायद पहले कभी नही देखा होगा..और ना ही शायद सुना भी होगा..की विपक्ष का नेता शासन प्रशासन को अवैध कारोबार में शामिल होकर खुलेआम उन कारोबार की रोकथाम के लिए चुनौती देता हो ..लेकिन ऐसा कांग्रेस राज में संभव है..और यही वजह है कि..बलरामपुर जिले में पंचायत मंन्त्री टीएस सिंह देव के सख्त निर्देश के बावजूद भी ग्राम मेंढारी में धड़ल्ले से अवैध रेत उत्खनन जारी है.

दरअसल रेत माफिया भाजपा नेता संजय अग्रवाल के सामने स्थानीय प्रशासन नतमस्तक है..और ग्रामीणो की शिकायत के बावजूद भी रेत माफिया पर नही कोई कार्यवाही नही हो पा रही है..

बता दे कि एनजीटी के गाइडलाइन के मुताबिक छत्तीसगढ़ में 10 जून से 15 अक्टूबर तक रेत के उत्खनन पर रोक लगा दी गई है..लेकिन बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर विकासखण्ड के ग्राम मेंढारी में इरिया नदी से रेत उत्खनन जारी है..

वही रेत माफिया भाजपा नेता संजय अग्रवाल द्वारा नियमो का खुलेआम उलंघन किया जा रहा है ..जिसकी शिकायत प्रदेश के पंचायत मंत्री टीएस सिंह देव से की गई थी..जिसके बाद मंन्त्री ने साफ तौर पर कहा था.. कि इस पर जिला प्रशासन से बात कर सख्त कार्यवाही की जाएगी..और बावजूद इसके बलरामपुर जिला प्रशासन ने रेत माफिया की दबंगई के आगे घुटने टेक दिए..और मंत्री के आदेश को भी दरकिनार कर दिया गया..

ग्रामीणो का आरोप है कि.. इरिया नदी से रात-दिन रेत का अवैध उत्खनन करके परिवहन किया जा रहा है.. जिसके कारण ग्रामीणो को काफी परेशानी भी हो रही है..लेकिन स्थानीय प्रशासन इस पर कोई कार्यवाही नही कर रहा है..जिससे रेत माफिया के हौसले बुलंद है..तथा कलेक्टर श्याम धावड़े के आदेश के बाद एसडीएम विशाल महाराणा ने अवैध रेत उत्खनन के कार्य पर रोक लगाई थी..और एक दिन ही रेत उत्खनन का कार्य बंद रहा..जिसके बाद सूत्र बताते है कि..सीएम हाउस ने हस्तक्षेप किया ..और स्थिति जस की तस हो गई..

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें-

Facebook, TwitterWhatsAppTelegramGoogle News