अम्बिकापुर में दिखा लॉकडाउन का असर… सड़कों पर पसरा सन्नाटा.. बरसती बारिश में ड्यूटी करती नज़र आयी पुलिस

अम्बिकापुर। ज़िले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को काबू करने के लिए कलेक्टर संजीव झा ने 22 से 29 जुलाई तक पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की है। जिसका आज पहला दिन है। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिये हैं। जिसके परिपालन में अम्बिकापुर की सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है।

लॉकडाउन का पालन कराने के लिए बरसती बारिश में पुलिस चौक-चौराहों में अपनी ड्यूटी करती नज़र आयी और सड़कों पर निकले एक्का दुक्का लोगों से पूछताछ की। क्योंकि कलेक्टर का शख़्त आदेश है कि कोई भी व्यक्ति बेवजह घूमते नहीं दिखना चाहिए। अगर कोई ऐसा करते पाया जाता है, तो उसके ख़िलाफ़ शख़्त कार्रवाई के निर्देश हैं।

इस दौरान कुछ आवश्यक सेवाओं व प्रतिष्ठानों को छूट भी दी गई है। इसके अलावा सुबह 6 से 10 बजे तक ही फल, सब्जी, दूध, चिकन-मटन, अंडा दुकानों को खोलने की अनुमति दी है। लॉकडाउन से पूर्व बुधवार को पूरे दिन बाजार में स्थिति आम दिनों की तरह ही रही। कुछ लोग बाजार में खरीदारी करते नजर आए, वहीं लॉकडाउन की स्थिति को देखते हुए सब्जी व्यापारियों ने आलू, प्याज, टमाटर सहित अन्य सब्जियों के दाम में वृद्धि कर दी थी।

30 रुपए प्रति किलो बिकने वाला आलू का भाव 35 से 40 रुपए कर दिया था। वहीं नगर पालिक निगम अम्बिकापुर में आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के आवागमन को छोडक़र सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है।

सिर्फ वाणिज्यिक कार्गो परिवहन की अनुमति ही इस प्रतिबंधित क्षेत्र में होगी। नगर पालिक निगम अम्बिकापुर क्षेत्र की सभी दुकानें, व्यवसायिक प्रतिष्ठान, गोदाम, साप्ताहिक हाट-बाजार आदि अपनी सम्पूर्ण गतिविधियों को बंद रखेंगे।


किराना दुकान में भीड़ अधिक होने की वजह से संक्रमण फैलने का खतरा रहता है। इसे ध्यान में रखते हुए इस लॉकडाउन में किराना दुकानें पूर्णत: बंद रहेंगी। किराना दुकानें भी 22 जुलाई की मध्य रात से 29 जुलाई तक बंद रखने का निर्णय लिया गया है।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें-

Facebook, TwitterWhatsAppTelegramGoogle News