Home Breaking News Breaking: कार्यक्रम में दो घंटे देरी से पहुंचे जिला प्रभारी मंत्री ओपी...

Breaking: कार्यक्रम में दो घंटे देरी से पहुंचे जिला प्रभारी मंत्री ओपी चौधरी… जाज्वल्यदेव लोक महोत्सव एवं एग्रीटेक कृषि मेला का किया शुभारंभ… जिला प्रशासन की चूक, विधायक के प्रोटोकॉल का नही रखा गया ख्याल… बच्चो के कार्यक्रम को लेकर हुआ विवाद..

जांजगीर-चांपा। जिले में आयोजित तीन दिवसीय जाज्वल्यदेव लोक महोत्सव एवं एग्रीटेक कृषि मेला का शुभारंभ वित्त, वाण्रिज्य कर, आवास एवं पर्यावरण योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी एवं जिले के प्रभारी मंत्री ओ पी चौधरी ने किया। लेकिन समय से 2 घंटे देरी से पहुंचे, प्रदेश में पहली बार कैबिनेट मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री बनने बाद यह ओपी चौधरी का जिले में पहला दौर था, बावजुद समय का ख्याल नहीं रख पाए. घण्टों तक लोग इंतजार करते रहे. वही कार्यक्रम में जिला प्रशासन की भी भारी चूक देखने को मिला, कार्यक्रम के उद्बोधन में विधायक व्यास कश्यप से पहले पूर्व विधायक को उद्बोधन करना विधायक प्रोटोकॉल के खिलाफ देखा गया. वहीं कांग्रेसी विधायक मंच में बैठक व्यवस्था को लेकर भी नाराज दिखे. इस तरह महोत्सव में प्रशासन का कई चूक देखने को मिला. मंच के गरिमा का ख्याल भी नहीं रखा गया. उद्घाटन अवसर पर मुख्य अतिथि ने विभिन्न योजनाओं 2734 हितग्राहियों को 4 करोड़ 10 लाख 18 हजार रुपए वितरण किया गया। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा टी बी के प्रति जागरूकता संदेश देने के लिए पोषण रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। जिले में शैक्षणिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए यूनिसेफ के साथ मिलकर क्या सीखा एवं विनोबा फाउंडेशन के साथ एमओयू भी किया गया।

इसके साथ ही जाज्वल्या पत्रिका के 2024 के संस्करण का विमोचन किया गया। मुख्य मंच से सैनिक अग्निवीर भर्ती में निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदान करने वाले पूर्व सैनिकों का सम्मान किया गया है। इनके द्वारा 800 लोगो की भर्ती में 220 लोगो का चयन हुआ है। साथ ही ओडीएफ प्लस के बेहतर कार्य करने के लिए जिला पंचायत को भी सम्मानित किया गया।

बच्चों का कार्यक्रम कर दिया बीच में ही बंद

अनुज शर्मा का कार्यक्रम रात 8:00 बजे निर्धारित था, लेकिन अपने निर्धारित कार्यक्रम से डेढ़ घंटे लेट में मंच पर पहुंचे. उसके पहले स्थानीय बच्चों का कार्यक्रम चल रहा था जिसके चलते सभी दर्शक कार्यक्रम का मजा ले रहे थे वही बच्चे राम धुन पर नृत्य कर रहे थे तभी संचालक द्वारा बच्चों को बीच में ही कार्यक्रम को बंद करने के अलाउंस कर दिया तब जाकर बच्चे भी काफी नाराज हुए. एवं उनके परिजन आयोजन समिति को कार्यक्रम को पूरा करने की मांग करने लगे लेकिन अनुज शर्मा के कार्यक्रम का समय हो जाने की बात को कहते हुए आयोजन समिति परिजनों की बात को अनसुना करते हुए कार्यक्रम को कंटिन्यू नहीं कराया गया, इसी बात को लेकर काफी देर तक विवाद होते रहा बच्चों ने भी आयोजन समिति के प्रति आक्रोश व्यक्त किया और दर्शकों ने भी आयोजन समिति को मंच में जाकर कार्यक्रम को कंटिन्यू करने को कहने लगे. तब जा कर बात बनी तो बच्चों ने अपना कार्यक्रम को पूरा किया उसके बाद फिर अनुज शर्मा का कार्यक्रम हुआ।