सरगुज़ा : स्वास्थ्य केंद्र में दिल के मरीज का हुआ सफल इलाज…

अम्बिकापुर..(सीतापुर/अनिल उपाध्याय).. विगत कई दिनों से सीने में दर्द से परेशान 70 वर्षीय दिल के मरीज का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सफल उपचार किया गया। दर्द से परेशान मरीज ने स्थानीय स्तर पर कई जगह अपना उपचार कराया किंतु उसे कही भी राहत नही मिली। अंत मे वह अपना उपचार कराने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुँचा जहाँ चिकित्सक द्वारा ईसीजी करने के बाद पता चला कि मरीज को हल्का दिल का दौरा पड़ा है। चिकित्सक ने मरीज की हालत नाजुक देख तत्काल उसे भर्ती कर उपचार शुरू कर दिया। कुछ देर बाद मरीज की हालत सुधरने लगी उसके सीने का दर्द दूर हो गया। तीन बाद जब चिकित्सक ने मरीज का स्वास्थ्य परीक्षण किया तो सब कुछ सामान्य था मरीज खतरे से बाहर था जिसके बाद उसे छुट्टी दे दी गई। फिलहाल मरीज बिल्कुल स्वस्थ है और चिकित्सक के सलाह अनुसार स्वास्थ्य लाभ ले रहा है।

विदित हो कि विकास खँड मैनपाट के तराई गाँव पेंट निवासी 70 वर्षीय मो मुर्तजा के सीने में कई दिनों से दर्द था। जिसका उपचार उन्होंने स्थानीय स्तर पर कराया किंतु कोई लाभ नही मिला। सीने में होने वाले दर्द से परेशान मरीज की हालत देख परिजन उसे लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुँचे जहाँ उन्होंने डॉ नीरज कुशवाहा एमडी को दिखाया। मरीज की हालत देख डॉ को समझते देर नही लगी कि मामला गंभीर है। उन्होंने जब ईसीजी किया तब पता चला कि मरीज को दिल का दौरा पड़ा है। उन्होंने बीमारी की गंभीरता समझते हुये तत्काल मरीज को भर्ती कर उपचार शुरू कर दिया। उपचार के कुछ घँटों बाद ही मरीज के सीने में होने वाला दर्द दूर हो गया। तीन दिन तक डॉ कुशवाहा के दिशानिर्देश में चले उपचार के बाद जब मरीज का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया तो तब कुछ सामान्य मिला मरीज की हालत खतरे से बाहर थी।सब कुछ सामान्य देख डॉ ने मरीज को स्वास्थ्य केंद्र से छुट्टी दे दी। फिलहाल मरीज स्वस्थ है एवं डॉ की सलाह पर स्वास्थ्य लाभ ले रहा है।

इससे पूर्व भी डॉ नीरज कुशवाहा किडनी एवं लकवाग्रस्त रोगियों का कर चुके है सफल उपचार-

दिल के मरीज को नया जीवनदान देने वाले डॉ नीरज कुशवाहा एमडी इससे पूर्व भी किडनी एवं लकवाग्रस्त रोगियों का सफल उपचार कर जीवनदान दे चुके है।डॉ नीरज कुछ माह पूर्व ग्राम भुषु निवासी 63 वर्षीय शुगर की मरीज नजबुन निशा जिसकी किडनी में संक्रमण होने की वजह से डायलिसिस की नौबत आ गई थी का सफल उपचार कर नया जीवनदान दिया था।इसी तरह सीतापुर निवासी सीताराम गुप्ता की पत्नी को पैरालिसिस का अटैक आया था जिसका उपचार डॉ नीरज ने किया था जिसकी वजह से अब वो पूरी तरह स्वस्थ है।

इस संबंध में डॉ नीरज कुशवाहा एमडी ने बताया कि मो मुर्तजा सीने में दर्द से काफी परेशान थे किंतु उन्हें ये नही पता था कि उन्हें हल्का दिल का दौरा पड़ा है।उनकी हालत नाजुक होने लगी थी दर्द की वजह से दुबारा अटैक का खतरा बढ़ गया था। परिजन जब उन्हें लेकर हॉस्पिटल पहुँचे तब तक रिस्क बढ़ गया था। किंतु मामले की गंभीरता देख मरीज को भर्ती कर मैंने उपचार शुरू किया समय पर उपचार होने की वजह से उनकी जान बच गई। फिलहाल वो स्वस्थ है और लगातार मेरे संपर्क में है।