Chhattisgarh News: क्या एजुकेशन हब में चौपाटी होना चाहिए? धरने में बैठे मंत्री और सांसद; बाजे गाजे के साथ पहुँचे स्टूडेंट्स, हो रही सियासत

रायपुर. शहर में स्मार्ट सिटी द्वारा 6 करोड़ कि लागत से चौपाटी का निर्माण किया गया है. चौपाटी लगभग बनकर तैयार है. ये चौपाटी एमजी रोड में बनाई गई हैं जहां एजुकेशन हब हैं, यहां कई कॉलेज पड़ते हैं. इस लिहाज से यहां चौपाटी बनाई गई. लेकिन अब बीजेपी इसका विरोध कर रही हैं. वही यूथ कांग्रेस इसके विरुद्ध अपना प्रदर्शन करने लगे, और फिर इधर बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स बाजे गाजे के साथ पहुँच गए.

राजधानी रायपुर में एजुकेशन हब में चौपाटी का विरोध करने पूर्व मंत्री राजेश मूणत अनिश्चित कालीन धरने पर बैठे है. प्रदर्शन में तीसरे दिन अनिश्चितकालीन प्रदर्शन का समर्थन देने सांसद सरोज पांडे भी शामिल हुई. राजेश मूणत ने चौपाटी के विरोध में सड़क से लेकर अदालत तक की लड़ाई शुरू कर दी है.

प्रदर्शन में पहुंची सांसद सरोज पांडे ने कहा कि साइंस कॉलेज में स्मार्ट सिटी द्वारा यह चौपाटी बनाई जा रही है जिसका लगातार विरोध पूर्व मंत्री राजेश मूणत द्वारा किया जा रहा है, भाजपा के सभी नेता इसका लगातार विरोध करेंगे और जब तक यह चौपाटी नहीं होती तब तक विरोध प्रदर्शन अनिश्चितकालीन के लिए जारी रहेगा.

मूणत का कहना है कि धरना निरंतर जारी रहेगा, हमें कार्यकर्ताओं एवं अन्य लोगों का जो समर्थन मिल रहा है, वह हमारे लिए ऊर्जा का कार्य कर रहा है. महापौर और कांग्रेस सरकार मेरी बात गाँठ बांध लें कि लड़ाई लंबी चलेगी और कोई दोषी बक्शा नहीं जाएगा, सबका नम्बर आएगा.

यूथ हब में बन रही चौपाटी पर अब काँग्रेस और भाजपा के बीच सियासत शुरू हो गई है. यूथ हब की माँग को लेकर युवा काँग्रेस ने बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. नालंदा परिसर के सामने सैकड़ो छात्रों ने यूथ हब के समर्थन में हस्ताक्षर अभियान चलाया, साथ ही भाजपा के खिलाफ धरना भी शुरू कर दिया है.

छात्रों के साथ युवा काँग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा भी धरने पर बैठ गए है. आकाश ने कहा कि भाजपा केवल राजनीति करने का प्रयास कर रही, छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास चल रहा, राजनैतिक उद्देश्य से यूथ हब का किया विरोध किया जा रहा, हम छात्रों के साथ अन्याय नही होंगे देंगे.

वही इसके विरोध में बड़ी संख्या में समर्थन देने छात्र भी पहुंच गए, स्कूल और कॉलेज दोनो संस्थानों से छात्र और छात्राएं चौपाटी हटाओ अभियान में शामिल हुए, शैक्षणिक संस्थानों का बंद करना होगा व्यवसाईकरण की मांग को लेकर पैरी के दान संस्था के बच्चों ने प्रदर्शन भी किया.