वीडियो : सीएम भूपेश बघेल और उनके पिता पर अब तक का सबसे बड़ा हमला… आरएसएस (RSS) और नक्सलवाद मामले पर BJP सांसद ने पूछे कई सवाल

रायपुर। कवर्धा में हुए साम्प्रदायिक हिंसा के बाद भाजपा और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े संगठनों का विरोध-प्रदर्शन जारी है। इस बीच, प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आरएसएस पर बड़ा जुबानी हमला किया। मुख्यमंत्री ने कहा, इन लोगों की दो ही चीजों में मास्टरी है। एक धर्मांतरण और दूसरी साम्प्रदायिकता। ये लोग हर छोटी घटना को साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन ऐसा कतई नहीं होने दिया जाएगा।

माता महामाया के दर्शन के लिए रतनपुर रवाना होने से पहले रायपुर हैलिपैड पर मीडिया से बातचीत में सीएम बघेल ने कहा, ‘अब इनके पास छत्तीसगढ़ में कोई मुद्दा रहा नहीं। ये लोग किसानों, मजदूरों, आदिवासियों, अनुसूचित जाति, व्यापार और उद्योग के बारे में बात नहीं कर सकते। धर्मांतरण और साम्प्रदायिकता पर ही लड़ाने का काम कर रहे हैं।’ ‘कोरोना के कारण बहुत समय से व्यापार-कारोबार बंद था। अब जाकर खुला है तो ये लोग दंगा भड़काकर को बर्बाद करेंगे। हम यह कतई नहीं होने देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा, किसी भी घटना को बिल्कुल हल्के में नहीं लेना है। ये छोटी सी घटना को भी बड़ा बनाना चाहते हैं। दो लोग लड़ेंगे तो हो सकता है, उसमें दोनों भाई हों। हो सकता है दो जातियों या दो अलग-अलग धर्मों के लोग हों। आपस में लड़ाई-झगड़ा हो ही जाता है। हर बात को साम्प्रदायिकता का रंग देने की कोशिश करेंगे उस पर हमें कड़ी निगाह रखनी है।’

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में आरएसएस के लोगों का 15 साल तक कोई काम नहीं हुआ। बंधुआ मजदूर की तरह काम करते रहे। आज भी इनकी कोई नहीं चलती। वो सब नागपुर से संचालित होते हैं। जैसे नक्सलियों के नेता आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और दूसरे प्रदेशों में हैं। यहां के लोग केवल गोली चलाने और गोली खाने का काम करते हैं। आरएसएस की भी स्थिति यही है। यहां आरएसएस के लोगों कोई वजूद नहीं है। जो कुछ है, वह नागपुर से है।

वही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा आरएसएस की तुलना नक्सलियों से करने पर राजनांदगांव से भाजपा सांसद संतोष पांडेय ने करारा जवाब दिया है, उन्होंने कहा-

“प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी का यह कहना.. तुलना करना.. नक्सलियों के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का… यह बहुत ही दुर्भाग्य जनक तो है ही.. किंतु आश्चर्य इसलिए भी नहीं है कि अपनी अकर्मण्यता अक्षमता को छिपाने के लिए यह आरोप लगाते रहे हैं.. इनके हाथ का भी लगाते रहे हैं… मैं पूछना चाहता हूं की इनके पूज्य पिताजी नंद कुमार बघेल जी राजनांदगांव से मानपुर क्षेत्र में आकर के रासुका में तीन बार जेल गए.. ऐसे सुरजू राम के काम से किस हैसियत से मिलते हैं.. किस प्रकार से उनके साथ मीटिंग करते हैं.. जिनका संबंध घोषित नक्सलियों से है… वह सीएम हाउस आते हैं और सीएम हाउस में उनके कंधे पर हाथ रखकर के कहते हैं.. उनको शाबाशी देते हैं… कि आप तो मेरे पिताजी के समान है आप तो मेरे पिता के मित्र हैं.. क्या संबंध है.. आपके पिता का.. आपके पार्टी के लोगों का.. नक्सलियों से क्या संबंध है.. माननीय भूपेश बघेल जी बताएं… भूपेश बघेल जी ये भी बताएं.. आपके आका.. आपके हाईकमान.. सोनिया गांधी.. अरे हम तो अपने देश से अपनी मातृभूमि से संचालित होते हैं.. आप तो वेटिकन सिटी से संचालित होते हैं.. क्या संबंध है वेटिकन सिटी से आप बताएं… आप बताएं भूपेश जी.. कि किस प्रकार से राजीव गांधी फाउंडेशन के लिए एक आतंकी संगठन से पैसा लिया गया… आप बताएंगे इसके उत्तर देंगे.. मैं आपसे पूछना चाहता हूं.. कि सीसीपी चाइना कम्युनिस्ट पार्टी से आपने कौन सा समझौता किया है… आपकी आकाओ ने.. जिसके आधार पर आप इंडियन नेशनल कांग्रेस को आप संचालित करते हैं.. देश के अंदर.. मैं आपसे इन प्रश्नों का उत्तर जानना चाहता हूं… राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अनुशासित संगठन है.. 100 वर्ष होने जा रहे हैं.. पूरी दुनिया में सेवा के लिए जाते हैं.. आपके मेरे कृपया उत्तर देंगे.. मैं आपके उत्तर की प्रतीक्षा में हूँ…”

whatsapp group