Chhattisgarh News: दो पहाड़ी कोरवा छात्रों ने तीरंदाजी में हासिल किया गोल्ड मेडल, अब नेशनल लेवल पर छत्तीसगढ़ राज्य का करेंगे प्रतिनिधित्व

Jashpur News: जिला प्रशासन द्वारा जिले के दूरस्थ पहाड़ी क्षेत्रों व वनांचलों के प्रतिभावान छात्रों के प्रतिभा को निखारने एवं उन्हें पढ़ाई के साथ साथ खेल के क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिए तीरंदाजी केन्द्र एवं एकलव्य खेल अकादमी का संचालन किया जा रहा है। जहाँ चयनित बच्चों को निःशुल्क अध्ययन, प्रशिक्षण एवं आवास की पूर्ण व्यवस्था प्रदान की गई है। शिक्षा विभाग द्वारा विगत 01 अप्रैल 2022 को संस्थान प्रारंभ किया गया है। संस्थान संचालन के केवल 7 माह के अंतर्गत ही अध्ययनरत छात्रों ने बड़ी स्पर्धाओं में अपना बेहतर खेल प्रतिभा का प्रदर्शन से पदक हासिल करने में कामयाबी पाई है।

इसी कड़ी में संस्थान में तीरंदाजी विधा के विशेष पिछड़ी जनजाति पहाड़ी कोरवा वर्ग के कक्षा 7वीं में अध्ययनरत 14 वर्षीय दो छात्रों ने राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल कर जिले को गौरवांवित किया है। विगत माह कबीरधाम जिले में आयोजित 22वें राज्यस्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता में मनोरा विकासखण्ड के ग्राम महरंगपाठ का छात्र अनिल राम एवं कोंडागांव जिले में आयोजित राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता में दुलदुला ब्लॉक के ग्राम मकरीबंधा के रहने वाले छात्र मनोज राम ने फिल्ड आर्चरी (तीरंदाजी) प्रतियोगिता के कम्पाउण्ड राउण्ड में प्रथम स्थान हासिल कर स्वर्ण पदक प्राप्त किया है। साथ ही दोनों छात्र छत्तीसगढ़ फिल्ड आर्चरी टीम में अपना स्थान बनाने में कामयाब हुए है। अब ये खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ राज्य का प्रतिनिधित्व करेंगे।

अनिल राम व मनोज दोनों ही स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट हिंदी माध्यम विद्यालय जशपुर में कक्षा 7वीं में अध्ययन करते है। रणजीता स्टेडियम परिसर में स्थित छात्रावास में रहकर वे पढ़ाई के साथ ही तीरंदाजी का प्रशिक्षण ले रहे है। यहां छात्रों को कुशल प्रशिक्षकों द्वारा भविष्य की प्रतियोगिता के लिए तैयार किया जा रहा है। उन्हें तीरंदाजी विधा की छोटी-छोटी बारीकियों के बारे में विस्तृत जानकारी देने के साथ ही लक्ष्य साधने के लिए एकाग्रता बनाए रखने की महत्ता पर बल देते हुए प्रशिक्षित किया जा रहा है। संस्था में बच्चें भी पूरे मन से अपनी विधाओं की तैयारी कर रहे है।

बच्चों ने बताया कि यहां उन्हें पढ़ाई के साथ साथ रहने एवं प्रशिक्षण की पूर्ण सुविधा प्रदान की गई है। यहां उन्हें प्रशिक्षण लेने में आनंद आता है। प्रशिक्षकों द्वारा उनका उत्साहवर्धन के साथ ही अच्छे प्रदर्शन के लिए मार्गदर्शन एवं प्रोत्साहन प्रदान किया जाता है। जिससे वे प्रतियोगिताओं में बेहतर प्रदर्शन करने में सफल हुए है। उन्होंने बताया कि यहां छात्रों में खेल के प्रति रुचि जागृत की जाती है एवं उनके रुचि अनुसार विधाओं में सम्मिलित कर प्रशिक्षण दिया जाता है। जिला प्रशासन एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने छात्रों के उत्कृष्ट प्रदर्शन पर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी है। संस्थान के नियमित संचालन के लिए जिला खनिज न्यास निधि द्वारा राशि प्रदान किया गया है। साथ ही स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा अकादमी का संचालन किया जा रहा है।

संस्थान में तीरंदाजी, ताइक्वांडो एवं तैराकी विधा शामिल है। जिसके अंतर्गत कुल 30 छात्रों का चयन हुआ है। छात्रों की शैक्षणिक व्यवस्था स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट हिंदी माध्यम विद्यालय में एवं आवास के लिए रणजीता स्टेडियम में छात्रावास सुविधा प्रदान की गई है। जहां छात्रों को तीनों विधाओं के निपुण प्रशिक्षकों द्वारा ट्रेनिंग दिया जाता है। संस्थान के छात्रों द्वारा सत्र 2022-23 में 22वें राज्यस्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता में तीरंदाजी, तैराकी एवं ताईक्वांडो विधा में जिले का नेतृत्व करते हुए उत्कृष्ट खेल दिखाते हुए राज्य स्तर पर कुल 7 पदक हासिल किए है। जिसमें तीरंदाजी विधा में 2 स्वर्ण, तैराकी में 4 रजत पदक एवं ताइक्वांडो में 1 कांस्य पदक अर्जित किया है। साथ ही अब ये खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित प्रतियोगिताओं में राज्य का प्रतिनिधित्व करेंगे।