कांग्रेसियों ने केंद्रीय राज्य मंत्री के घर के बाहर फूंका पीएम मोदी का पुतला… कारण.? केंद्र सरकार ने इस योजना में ज़िले का नाम नहीं किया शामिल!..

सूरजपुर। कोरोना काल के इस संकट के घड़ी में प्रवासी मज़दूरों के लिए केंद्र सरकार द्वारा ग़रीब कल्याण रोज़गार अभियान को 20 जून को शुभारंभ किया है। जिसमें छत्तीसगढ़ के किसी भी जिले को शामिल नही किया गया है, जिसपर कांग्रेसियों ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ के प्रति सौतेला व्यवहार के किया जा रहा है।

इसके विरोध में आज युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष ज़फ़र हैदर व एनएसयुआइ जिलाध्यक्ष जाकेश राजवाड़े के नेतृत्व में युँका व एनएसयुआइ के कार्यकर्ताओं ने केन्द्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह के रामानुजनगर में स्थित निवास कार्यालय को घेरा गया व साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला फूंका गया। कार्यकर्ताओं ने बड़े आक्रोश के साथ केन्द्र सरकार के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किया।

जिलाध्यक्ष ज़फ़र हैदर ने बताया कि मोदी सरकार द्वारा जनता को परेशान किया जा रहा है छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार होने के कारण मोदी सरकार छतीसगढ़ के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है, इससे पहले पूर्व में भी केन्द्र सरकार द्वारा छतीसगढ़ का चावल ख़रीदने के लिए मना कर दिया गया था, और भी कई सारे योजनाओं को केन्द्र सरकार ने छतीसगढ़ में लागु नही किया है। छतीसगढ़ राज्य में दूसरे राज्यों से 03 लाख लोग वापस आए है। केन्द्र की इस योजना को छत्तीसगढ़ में लागु ना करना बेहद दुर्भाग्यजनक है। केन्द्र सरकार की इस दोगली नीति से पता चलता है कि मोदी सरकार की मानसिकता कितनी छोटी है। मोदी सरकार सिर्फ़ उधयोगपतियो की सरकार है। मोदी सरकार आम जनता के हित के लिए कोई भी कार्य नही कर रही है। मोदी सरकार सिर्फ़ केवल अम्बानी व अदानी जैसे बड़े-बड़े लोगों की सरकार है।

NSUI जिलाध्यक्ष जाकेश राजवाड़े ने बताया कि केन्द्र की मोदी सरकार दोगली राजनीति कर रही है। आम जनता के हित के लिए मोदी सरकार द्वारा कोई कार्य नही किया जा रहा है छत्तीसगढ़ में ग़रीब कल्याण रोज़गार अभियान को छतीसगढ़ में लागु ना करना यह मोदी सरकार की छोटी मानसिकता का परिणाम है।

कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि इस योजना को दलगत राजनीति के आधार पर किया गया है उन राज्यों को ज़्यादा लाभ दिया गया है जहाँ भाजपा की सरकार है, या जहाँ वर्तमान में चुनाव होने वाले है। साथ ही 20 लाख करोड़ की कथित राहत योजना से भी ग़रीब मजदूरो को कोई फ़ायदा नहि दिख रहा है। ये सब योजनाए सिर्फ़ काग़ज़ों में है। केन्द्र की योजनाओं में कांग्रेस शासित राज्यों को प्राथमिकता नही है। छतीसगढ़ के लोगों से मोदी सरकार को कोई लेना देना नही है। बड़े ही आक्रोश के साथ कार्यकर्ताओं ने केन्द्र सरकार का विरोध किया।

छत्तीसगढ़ से एक मंत्री सहित 09 सांसद फिर भी एक भी जिला शामिल नही

कांग्रेसियों ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में एक केंद्रीय मंत्री जो सूरजपुर जिले से है, और 09 सांसद है। इसके बावजूद भी एक भी जिला छत्तीसगढ़ का शामिल नही किया गया है जो दुर्भाग्य पुर्ण है।

इस दौरान जिला पंचायत उपाध्यक्ष नरेश राजवाड़े, प्रदेश सचिव इस्माइल खान, युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष जफर हैदर, NSUI जिला अध्यक्ष जकेश राजवाड़े, सूरजपुर जनपद उपाध्यक्ष नरेन्द्र यादव, अविनाश यादव, NSUI पूर्व प्रदेश संयोजक कौनेन अंसारी, NSUI-RGSSU जिला संयोजक अविनाश साहू, आकाश साहू, नैतिक अग्रवाल, अनुराग डालमिया, शशि सिंह, भावना सिंह नेताम, साजिद हुसैन, रितेश प्रताप सिंह, विनय यादव, मनोज साहू, मौसिम खान, दीपक बिसेन, पिंटू गुर्जर, कौनेन अंसारी, अनेश टोप्पो, मिथलेश राजवाड़े, अविनाश साहू, शाहरूख खान, प्रीतम राजवाड़े, अनिल राजवाड़े, दीपेश काशी, सतवंत सिंह, वगीशा देवाँगन, गौरव तिवारी, सोमेश क़ेवट, उदय पटेल, शुभम साव, अंकित कुमार बैगा, निखिल पंडित, नरेन्द्र राजवाड़े, दीपेश सिंह, श्रिजन केरकेट्टा, रंजित रावत, अखिलेश ठाकुर, राहुल किंड़ो, आकाश यादव, सोनू, दलपेश, आशिफ अली, प्रिन्स, कृष्णा सिंह, हलकेश्वर, सोचन, परमेश्वर, तारकेश्वर, रवि एवं बहुत अधिक संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें-

Facebook, TwitterWhatsAppTelegramGoogle News