Home Breaking News मिशन 2023 : जांजगीर चाम्पा विधानसभा में बीजेपी में दो नामो पर...

मिशन 2023 : जांजगीर चाम्पा विधानसभा में बीजेपी में दो नामो पर चर्चा तो कांग्रेस से चार चेहरो पर चल रही बातचीत…अब जल्द किसी एक नाम पर लगने वाला है मुहर…!

संजय यादव
जांजगीर चाम्पा। छत्तीसगढ़ में अब सभी पार्टियों में सर्वे का काम समाप्ति की ओर है वही पार्टी भी अपनी उम्मीदवार का नाम लगभग हर एक विधानसभा से तय कर लिया है. बीजेपी ने अपने 21 उम्मीदवारों को नाम की घोषणा पहले से कर चुकी है अब बाकी बचे सीटों में भी नाम आज शाम या कल तक घोषित हो सकते हैं.वहीं कांग्रेस भी अब जल्द अपने 90 विधानसभा में उम्मीदवारों के नाम की घोषणा करने वाली है.जांजगीर चाम्पा विधानसभा की बात करें तो यहाँ बीजेपी के दो नाम का पैनल ऊपर गया है जिसमें पहला नाम मौजूदा विधायक एवं नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ,दूसरा नाम भाजपा के जिला उपाध्यक्ष अमर सुल्तानिया का है. वहीं कांग्रेस पार्टी में चार नाम पर चर्चा चल रही है पहला नाम पूर्व विधायक मोतीलाल देवांगन का नाम है तो वही दूसरे नाम में इंजीनियर रवि पांडे का नाम चल रहा है तीसरे में रामसुंदर दास महंत एवं चौथे में व्यास कश्यप, व दिनेश शर्मा का नाम पर चर्चा हो रहा है. हालांकि संगठन से आए पदाधिकारी के सामने कांग्रेस के अधिकतर दावेदारों ने दो नाम पर खुलकर विरोध किया है , जिसमें रामसुंदर दास महंत एवं व्यास कश्यप के नाम पर विरोध जताया है. महंत रामसुंदर दास का नाम बाहरी प्रत्याशी के रूप में लिया जा रहा है ,तो वही व्यास कश्यप को अन्य पार्टी से आए उम्मीदवार के रूप में देखा जा रहा है. हालांकि यह दोनों नाम का विरोध विधानसभा में दावेदारी कर रहे लोगो ने ही किया है.ऊपर इनका विरोध नहीं के बराबर है. इन सभी में किसी एक नाम पर ही मुहर लगना है. जो जल्द पार्टी घोषणा करने वाली है. सभी दावेदार अपने-अपने स्तर पर टिकट पाने के जुगाड़ में लगे हुए हैं .वही सभी बड़े नेताओं के संपर्क में है. रोजाना राजधानी का दौरा हो रहा है. अब पार्टी किसी एक पर ही मोहर लगाई, बस लोगों को थोड़ा इंतजार करना होगा. हालांकि बीजेपी में मौजूदा विधायक नारायण चंदेल फिर से वापसी करने की चर्चा हो रही है तो वहीं कांग्रेस में पुराने वही उम्मीदवार पूर्व विधायक मोतीलाल के बीच मुकाबला होने की संभावना जताई जा रही है लेकिन यह सिर्फ संभावना पर ही टिका हुआ है, हो सकता है कांग्रेस इस बार नए चेहरे को टिकट देती है तो सबसे प्रमुख नामो में इंजी.रवि पांडे एवं महंत रामसुंदर दास का आ रहा है .लेकिन मोतीलाल देवांगन का विरोध पूरे विधानसभा क्षेत्र में है, तो रामसुंदर दास महंत के नाम पर दावेदारों ने विरोध जताया है लेकिन इंजीनियर रवि पांडे के नाम का विरोध न तो क्षेत्र में है न ही दावेदारो के बीच मे है.दिनेश शर्मा को भी कमतर नही आका जा सकता लेकिन जिले के एक बड़े नेता ने इनके नाम पर विरोध जताया है. पार्टी बदलने का विरोध व्यास कश्यप के ऊपर भी है लेकिन सीएम का आशीर्वाद रहा तो कुछ नया हो सकता है. इसलिए इंजी.रवि पांडेय का नाम प्रमुख रूप से लिया जा रहा है इस तरह बीजेपी में नारायण चंदेल एवं अमर सुल्तानिया के बीच कड़ी टक्कर है अब देखना होगा कि दोनों पार्टी किस नामो पर मुहर लगाती है।