Chhattisgarh News: फाइनल मुकाबले में 3-2 से हारी बलसेड़ी क्लब, पंचायत स्तरीय फुटबॉल प्रतियोगिता में खैरबार का कब्ज़ा

Surguja News: अम्बिकापुर शहर से लगे खैरबार गाडाघाट में पंचायत स्तरीय फुटबॉल प्रतियोगिता का समापन हो गया. समापन की शाम अतिथि के रूप में ज़िला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और ज़िला पंचायत सदस्य राकेश गुप्ता मौजूद रहे. विशिष्ट अतिथि के रूप में अधिवक्ता एवं कांग्रेस नेता अरविंद सिंह गप्पू और बंटी शर्मा उपस्थित थे. 20 दिनों तक चले इस फुटबॉल प्रतियोगिता में फ़ाइनल मैच मेज़बान खैरबार और बलसेडी फुटबॉल क्लब के बीच खेला गया. जिसमें गत वर्ष की चैंपियन बलसेडी को हराकर मेज़बान खैरबार ने इस प्रतियोगिता में अपना क़ब्ज़ा जमा लिया.

बीते 30 अक्टूबर से 20 नवंबर तक अम्बिकापुर के समीपस्थ गाँव खैरबार गाडाघाट में पंचायत स्तरीय फुटबॉल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. जिसमें फ़ाइनल मुक़ाबले में पहले हॉफ तक बलसेडी क्लब की टीम 2-1 से बढ़त बनाए हुए थी. लेकिन सेंकेड हॉफ के खेल में खैरबार टीम ने लगातार दो गोल मारकर 3-2 से ये मुक़ाबला जीत कर फ़ाइनल विजेता बन गईं. इससे पहले सेमीफ़ाइन मैच में बलसेडी ने खूटीपारा को खैरबार ने कुम्हरता को मात देकर फ़ाइनल में जगह बनायी थी. इधर फ़ाइनल मुक़ाबले के अलावा तीसरे और चौथे स्थान के लिए खेले गए मैच में तीसरे स्थान पर खूटीपारा और चौथे स्थान में कुम्हरता की टीम रही है. फ़ाइनल मुक़ाबले के बाद इनाम वितरण में विजेता खैरबार फुटबॉल क्लब ने 41 हज़ार की नगद राशि शील्ड जीता. इसके अलावा उपविजेता बलसेडी क्लब की टीम को 31 हज़ार का नगद पुरस्कार और शील्ड दिया गया. साथ ही तीसरे स्थान में आए खूटीरारा को 7 हज़ार और चौथे स्थान पर रहे कुम्हरता को 5 हज़ार की नगद राशि प्रदान गई. इधर सबसे अधिक गोल करने का इनाम बलसेडी के सुरेन्द्र पैंकरा मधु को दिया गया.

इमाम वितरण के दौरान खैरबार के स्थानीय कलाकारों द्वारा कर्मा नृत्य और छत्तीसगढ़ी गानों में विशेष नृत्य प्रस्तुत किया. इस अवसर पर मुख्य अतिथि राकेश गुप्ता ने विजेता और उपविजेता टीम को शुभकामनाएँ दी और नृत्य दल की लड़कियों को एक-एक हज़ार रुपए प्रदान किए. इस आयोजन में कमेटी के अध्यक्ष ज्ञान प्रकाश कुजूर, उपाध्यक्ष विष्णु खलखो, कोषाध्यक्ष सोमनाथ टेकाम, सचिव राम करण तिर्की, सरपंच बसंती मिंज, उपसरपंच अदीप एक्का, रवि, जेंडर, सामू, अभिषेक, पंकज, जय प्रकाश, आमीन इलियास, रूकेश, अनुक, जूनस, रोशन कुजूर, सुरेन्द्र कुजूर, आलोक एक्का, अशोक सोनी, प्रवीण खलखो की भूमिका अहम रही.