‘भैरवनाथ’ से लेकर ‘मोगैंबो खुश हुआ’ तक, अमरीश पुरी के ये 10 किरदार नहीं भूल सकते आप

मनोरंजन डेस्क। सन 2000 से पहले की हिंदी फिल्मों का जिक्र करें, तो एक शख्स का नाम कभी नहीं छूटता, जो ज्यादातर तो विलेन के रोल में नजर आते थे, वहीं कई ऐसी फिल्में है जिसमें उन्होंने एक पिता, पुलिस और राजनेता के रोल में शानदार अभिनय किया है। हम बात कर रहे हैं अमरीश पुरी की। जिन्होंने अपने शानदार अभिनय से बॉलीवुड में अपनी अलग छाप छोड़ी। जिनके किरदार के कुछ बेहतरीन यादें आज भी लोगों के जहन में है। बच्चा हो या बूढा अमरीश पुरी के नाम हर किसी की जुबान पर रहता है।

इस आर्टिकल में आज हम अमरीश पुरी के उन 10 किरदारों के बारे में बताएंगे जो यादगार है और आपको भी हमेशा याद रहेंगे। चाहे वह नागिन में भैरवनाथ का रोल हो या मिस्टर इंडिया में मोगैंबो। इसी तरह उन्होंने कई अलग-अलग फिल्मों में अभिनय किया हैं। जो लोगों के दिल और दिमाग में छप गए हैं। तो आइए आपको बताते हैं अमरीश पुरी के शानदार 10 किरदार

नागिन- भैरोनाथ

फिल्‍म नागिन में निभाया गया उनका तांत्रिक बाबा भैरोनाथ का किरदार फिल्‍म की जान की तरह था। नागमणि में उनके गेटअप ने एक अलग ही मैनरिज्‍म क्रिएट किया था। इस किरदार के लिए उन्‍हें खूब सराहना मिली थी।

मिस्‍टर इंडिया- मोगैंबो

फिल्‍म मिस्‍टर इंडिया में मोगैंबो का किरदार बच्‍चे से लेकर बूढ़े तक को याद होगा। ‘मोगैबो खुश हुआ’ डायलॉग हर किसी की जुबान पर चढ़ गया था। आज भी लोग इस डायलॉग को बोलते हुए सुने जाते हैं। यह किरदार अमरीश को हमेशा के लिए लोगों के दिलों में जिंदा रखेगा।

तलहका- जनरल डॉग

फिल्‍म तहलका में अपना एक अलग देश डांगरीला बसाकर जुल्‍म और अत्‍याचार की इंतहां करने वाला संगीत प्रेमी जनरल डॉग का किरदार भी लोगों के जेहन में अब तक जिंदा है।

सौदागर- चुनिया

दो दोस्‍तों की कहानी फिल्‍म सौदागर में दोस्‍त वीर और राजेश्‍वर के बीच झगड़ा कराने वाले चुनिया मामा के किरदार को शायद ही कोई भूल पाए। शकूनी मामा जैसे इस किरदार में अपने अभिनय से अमरीश ने जान डाल दी थी।

दामिनी- बैरिस्‍टर इंद्रजीत चड्ढा

फिल्‍म दामिनी के गुस्‍सैल और चीखने-चिल्‍लाने वाले बैरिस्‍टर इंद्रजीत चड्ढा का किरदार उस जमाने के हर फैन को अभी तक याद होगा। इस किरदार में अमरीश लीड एक्‍टर सनी देओल से कहीं भी कम नजर नहीं आए थे।

दिलवाले दुल्‍हनिया ले जाएंगे- बलदेव सिंह

अमरीश ने पॉजिटिव किरदार भी निभाए। फिल्‍म दिलवाले दुल्‍हनिया ले जाएंगे में कड़क पिता चौधरी बलदेव सिंह के किरदार में उनके अभिनय को खूब सराहना मिली थी। इस किरदार में उनका ‘जा सिमरन जा, जी ले अपनी जिंदगी’ डायलॉग आज तक लोगों की जुबान पर चढ़ा है।

परदेस- किशोरी लाल

फिल्‍म परदेस में किशोरी लाल का किरदार भी कुछ ऐसा ही था। किशोरी लाल अपने बेटे की गलतियों पर पर्दा जरूर डालता है, लेकिन किसी की खुशियों की कीमत पर नहीं। इस किरदार को भी काफी सराहा गया था।

कोयला- राजा साहब

फिल्‍म कोयला के राजा साहब भी बॉलीवुड के खतरनाक खलनायकों में गिने जाते हैं। कोयला में इस किरदार से अमरीश ने खलनायक की इमेज को पर्दे पर बखूबी पेश किया था।

गदर- अशरफ अली

इस फिल्‍म को शायद ही कोई भूल पाया होगा। फिल्‍म गदर में जितनी सराहना सनी देओल के दमदार डायलॉग्‍स को मिली, उससे कम सराहना अशरफ अली के किरदार में अमरीश पुरी को नहीं मिली।

नायक- बलराज चौहान

सन् 2001 में आई फिल्‍म नायक सोशल-पॉलिटिकल फिल्‍म थी। इसमें अमरीश नेगेटिव रोल में थे और मुख्‍यमंत्री बलराज चौहान का किरदार निभाया था। इस किरदार में अमरीश की खूब तारीफ हुई थी।

इन 10 फिल्मों में अमरीश पुरी ने अपने शानदार किरदार से लोगों का मनोरंजन किया। इन फिल्मों की वजह से उन्हें काफ़ी ज्यादा याद किया जाता है, क्योंकि इन फिल्मों में शुरू से लेकर आखरी तक अमरीश पुरी का जबरजस्त रोल है। वहीं डायलॉग और एक्टिंग पर भी शानदार रहा है।

whatsapp group