शमशान घाट से अस्थि उठा ले गए चोर, जानिए पूरा मामला

उमरिया. जिला मुख्यालय उमरिया के विकटगंज में श्मशान से अस्थियां चोरी होने का आरोप मृतिका के ससुराल पक्ष के लोगो ने लगाया है। दरअसल, 13 जनवरी को 30 वर्षीय उमा झारिया निवासी विकटगंज उमरिया का विवाह बरौदी निवासी अरुण झारिया के साथ हुआ था। लगातार बीमार रहने के कारण विकटगंज स्थित मायके में रहकर ही ईलाज करवाया जा रहा था। लेकिन लगातार बीमार रहने के कारण 13 जनवरी को उमा झारिया की मौत हो गई थी। जिसका अंतिम संस्कार नजदीकी श्मशान घाट में किया गया था और तय कार्यक्रम के अनुसार आज 16 जनवरी की सुबह अस्थि संचय के लिए मायके और ससुराल पक्ष के दर्जनों की संख्या में परिजन श्मशान घाट पहुंचे लेकिन श्मशान घाट पहुंचने पर सब भौचक्के रह गए।

घटना का दूसरा पहलू

इस घटना का दूसरा पहलू ये है कि, टीआई कोतवाली राघवेंद्र तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया की उमा झारिया की मौत के कुछ दिन पहले ही पति, सास और ससुर के खिलाफ 498 प्रकरण कायम किया गया था। मृतिका की मौत के बाद मर्ग कायमी भी की गई है। साथ में ये भी बताया गया कि मृतिका के माता पिता के द्वारा यह जानकारी दी गई है कि अस्थि संचय करके नर्मदा नदी में प्रवाहित कर दिया गया है।

कुल मिलाकर के मृतिका की मौत के मामले में आरोपी आम घटना को एक नया मोड़ देने की कोशिश कर रहे हैं।