नीली बत्ती आते देख.. सड़क किनारे फेंक दिया बोरे में बंधा युवक का शव… पुलिस जाँच में बड़ा खुलासा… पढ़िए पूरी ख़बर

अम्बिकापुर. 8 सितंबर को को जमदरा जंगल मेन रोड के किनारे बोरी में भरा अज्ञात शव, मोटर सायकल के साथ मिला था. अज्ञात शव की शिनाख्त मृतक के भाई अर्जुन राम सारथी ग्राम केसमा के द्वारा अपने भाई सहदेव राम सारथी के रूप में किया गया. अर्जुन राम के रिपोर्ट पर मर्ग क्रमांक 54/2020 धारा 174 जा फौ0 एवं अपराध क्रमांक 92/2020 धारा 302 201 भादसं कायम कर पंचनामा कार्यवाही किया जाकर शव का पी० एम० कराया गया. पी. एम. रिपोर्ट में डाक्टर द्वारा मारपीट कर हत्या करने से होना लेख किया गया.

विवेचना दौरान अज्ञात आरोपियो का पतासाजी के लिए पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सरगुजा के निर्देश्न पर एवं उप पुलिस अधीक्षक महोदय के मार्गदर्शन पर टीम गठित कर अज्ञात आरोपी का पतासाजी किया गया. जो विवेचना दौरान संदेही आरोपी 1. सहोरन पैकरा पिता शेषनाथ पैकरा उम्र 40 वर्ष 2 धनेश्वर पैकरा पिता लोकनाथ पैकरा उम्र 28 वर्ष, 3 श्रीराम पैकरा पिता शेषनाथ पैकरा उम्र 25 वर्ष 4. अशाराम पिता स्व. कुलदीप बरगाह उम्र 59 वर्ष. 5. सुनिल पैकरा पिता सहोरन पैकरा उम्र 17 साल 07 माह सभी निवासी ग्राम चुटकी स्कूल पारा थाना उदयपुर जिला सरगुजा से पुछताछ किया गया.

जो अपने ममोरण्डम कथन में बताये कि अनिता पैकरा का विवाह लगभग 8 वर्ष पूर्व ग्राम केसमा के अखिलेश्वर सिह के साथ सामाजिक रीति रिवाज से हुआ था. अखिलेश्वर सिह अपने पत्नि अनिता को सहदेव सारथी के साथ अवैध शारीरिक संबंध है. कहकर हमेशा मारपीट करता था. करीब 04 माह पहले अखिलेश्वर सिंह अपने पत्नि अनिता पैकरा को ज्यादा झगडा विवाद कर ग्राम मुटकी पहुचा दिया और बोला अनिता को अब नही रखुंगा. कि ग्राम केसमा का सहदेव सारथी ग्राम मुटकी आकर अनिता से अक्सर मिलता जुलता था. जो अनिता पैकरा को बहुत समझाते थे।

दिनॉक 07 सितंबर को करीब 08:00 बजे रात को आरोपीगण खाना पीना खाकर सो गये थे कि आहट मिलने पर आरोपी सहोरन उठकर देखा बाडी के शौचालय के पास अनिता पैकरा को सहदेव सारथी खीचातानी कर रहा था. अनिता अपने पिता को देखकर भाग गई. सहदेव सारथी को लकडी के डण्डा से आरोपी सहोरन सिर मे मारा तो सहदेव सारथी जमीन में गिरने पर आरेपी हाथ मुक्का, लात से छाती गाल में मारपीट का हत्या कर दिया और लाश को छुपाने के नियत से हाथ पैर को बांधकर बोरी में भरकर ग्राम केसमा ले जा रहे थे. कि कुन्नी जमदरा पक्की रोड के पास सामने नीला बत्ती गाडी आता देखकर रोड किनारे मोटर सायकल सहित सहदेव सारथी का लाश बोरी में बंधा छोडकर भाग गये व झोला में बरसाती और छाता को जंगल में फेक दिये थे. आरोपीगणो को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया है.

अज्ञात आरोपी के पतासाजी में निरीक्षक मनोज प्रजापित, उप निरीक्षक विष्णु सिह, बृजनाथ साय पैकरा, सउनि राजकुमार पाण्डेय, राकेश मिश्रा प्र० आर० संतोष कश्यप, आर.रविन्द्र साहू, दिलसुख लकडा, अरविन्द्र तिवारी, पीताम्बर सिंह, राजकुमार सिंह, अजय शर्मा, म.आर. सहनाज व सायबर सेल से आरक्षक भोजराम पासवान, सुयस सिंह, महिला स्मिता रागिनी सक्रिय रहे.

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें-

Facebook, TwitterWhatsAppTelegramGoogle News