पिता की हत्या कर फ़रार हुआ पुत्र जंगल से गिरफ्तार… नागर जोतने के विवाद पर डंडे से पीट-पीटकर की थी हत्या, माँ पर भी किया था हमला

क्रांति रावत, उदयपुर। थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम चकेरी में 23 जुलाई की 4:30 बजे आपसी विवाद में पुत्र ने पिता को मारकर खत्म कर दिया था। बीच-बचाव करने पहुंचे अपनी मां को भी मार कर अधमरा कर दिया था। मामले को गंभीरता से लेते हुये नव पदस्थ थाना प्रभारी अलरिक लकड़ा ने टीम बनाकर हत्या करके फरार आरोपी पुत्र की गिरफ्तारी के लिए पतासाजी शुरू किए तथा आरोपी को अरगोती के तपतापारा जंगल से गिरफ्तार किया गया।

घटना के संबंध में उदयपुर थाना निरीक्षक अलरिक लकड़ा ने बताया कि 23 जुलाई को चकेरी निवासी भगत सिंह उर्फ छोटू ने शाम 4:30 बजे नागर जोतने के विवाद को लेकर पिता द्वारा डंडे से मारे जाने के बाद आवेश में आकर पुत्र भगत सिंह ने अपने पिता कमला प्रसाद को गेड़ा से पीट पीटकर मार डाला। इस दौरान बीच बचाव के लिए पहुंची मां चुमेंन बाई पर भी आरोपी युवक ने सीना, कमर, हाथ, पैर में जमकर प्रहार करते हुए बुरी तरह से घायल कर मरणासन्न अवस्था में छोड़कर फरार हो गया। घटना की सूचना पाकर मृतक का बड़ा लड़का रामदेव घर आया तथा उसके द्वारा थाना उदयपुर में रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

मामले में उदयपुर पुलिस ने धारा 302 तथा 307 का अपराध कायम कर फरार आरोपी की तलाश करते हुए, अरगोती तपतापारा जंगल से 24 जुलाई को सायं 07 बजे करीब गिरफ्तार किया गया। पुलिस द्वारा शुक्रवार को मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया था। घायल महिला का इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उदयपुर में जारी है। शनिवार को पिता के हत्यारे पुत्र को न्यायालय पेश कर दिया गया है।

आरोपी के गिरफ्तारी में थाना प्रभारी अलरिक लकड़ा, उप निरीक्षक बीआर कश्यप, सहायक उप निरीक्षक अजित मिश्रा, प्रधान आरक्षक विवेक पाण्डेय, आरक्षक अमित विश्वकर्मा, लाखन सिंह एवं देव नारायण कंवर सक्रिय रहे।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें-

Facebook, TwitterWhatsAppTelegramGoogle News