पीडीएस दुकान में राशन की हेराफेरी.. ग्रामीणों ने तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन.. महिला स्वयं सहायता समूह पर आरोप..


अम्बिकापुर. सरगुजा जिले के उदयपुर ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत कंवलगिरी के ग्रामीणों ने शुक्रवार को तहसील कार्यालय में तहसीलदार को आवेदन दिया. आवेदन पत्र देकर पीडीएस संचालन कर्ता महिला स्वयं सहायता समूह के द्वारा राशन वितरण में गड़बड़ी की शिकायत करते हुए उक्त समूह की गतिविधियों की जांच और समूह कार्य से पृथक करने की मांग की है. ग्रामीणों ने अपने शिकायत पत्र में आरोप लगाया है कि राशन वितरण के संचालन जिम्मेदारी पिछले कई वर्षों से संतोषी महिला स्वयं सहायता समूह को दी गई है. समूह की अध्यक्ष हेमकुमारी है उनका विवाह कोरबा जिले के ग्राम गिधमुड़ी में हो चुका है और अब वह अपने परिवार सहित गिधमुड़ी में निवासरत है.

वर्तमान में राशन वितरण का कार्य समूह अध्यक्ष की मां जो स्वयं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता है और आंगनबाड़ी सहायिका मुनेश्वरी राजवाड़े के द्वारा किया जा रहा है. शासन द्वारा लाकडाऊन अवधि में अप्रैल, मई व जून महीने का राशन एक साथ ग्राम पंचायतों में भेजा गया है, इसका निशुल्क वितरण भी समूह के द्वारा नहीं किया गया. गांव की मितानिनों के द्वारा कोरोना महामारी की वजह से तीन महीने का चावल, शक्कर, चना और मिट्टी तेल निशुल्क वितरण की सूचना गांव मे दी गई थी. संचालन कर्ताओं के द्वारा निशुल्क मिलने वाले चना के एवज में रुपये लिए जाने की शिकायत भी की गई है. ग्रामीणों द्वारा राशन दुकान का संचालन लैंप्स या ग्राम पंचायत से कराए जाने की मांग की गई है.