संसदीय सचिव चिन्तामणी महाराज ने किया राज्योत्सव का शुभारंभ, जिलेवासियों को दी बधाई; स्कूली छात्र-छात्राओं ने मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की दी प्रस्तुति

बलरामपुर: छत्तीसगढ़ राज्य के 22वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में पहुंचे मुख्य अतिथि संसदीय सचिव चिन्तामणी महाराज ने सर्वप्रथम विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए शासकीय योजनाओं पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन किया, तत्पश्चात उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, सरस्वती माता व छत्तीगसगढ़ महतारी के छायाचित्र पर दीप प्रज्वलन व माल्यार्पण कर कार्यक्रम की विधिवत् शुरुआत की, तथा राज्यकीय गीत का गायन किया गया। राज्योत्सव के अवसर पर स्कूली छात्र-छात्राओं व स्थानीय संस्कृति से जुड़े जनजाति कला तथा स्थानीय कलाकार चन्द्रिका झनक, मेलोडी स्टार नितिन दुबे ने मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। इस दौरान संसदीय सचिव महाराज ने विभिन्न विभागों द्वारा संचालित हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत हितग्राहियों को चेक, सामग्री व स्कूली छात्र-छात्राओं को जाति प्रमाण पत्र का वितरण किया।

छत्तीसगढ़ शासन के संसदीय सचिव चिन्तामणी महाराज ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिलेवासियों को राज्य स्थापना दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं दी, उन्होंने कहा कि आज से ठीक 22 वर्ष पूर्व हमारे छत्तीसगढ़ प्रदेश का गठन हुआ था, तब से छत्तीसगढ़ नये बुलंदियों को छू रहा है। हमारा छत्तीसगढ़ अब 22 वर्ष का ऊर्जावान युवा हो चुका है, तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में तेजी से दौड़ रहा है। भूपेश सराकार की नीतियां आमजनों के लिए लाभप्रद सिद्ध हो रही है, छत्तीसगढ़ देश का पहला ऐसा राज्य है जहां गोबर 2 रूपये प्रतिकिलो, व गौमूत्र 4 रूपये प्रतिलीटर खरीदा जाता है।

श्री महाराज ने कहा कि हमारी सरकार की मंशा है कि गांव के गरीब बच्चे भी अंग्रेजी माध्यम स्कूल में पढ़ सके, इसके लिए प्रदेश में 247 स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालित कर गरीब बच्चों और उनके अभिभावकों के सपनों को सकार किया है। उन्होंने कहा कि जिले के 42 हजार 999 किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत लाभान्वित हो रहे हैं, इस योजना के तहत् समस्त फसलों पर 9 हजार रूपये प्रति एकड़ धान के बदले अन्य फसल लेने पर 10 हजार रूपये प्रति एकड़ किसानों को लाभ प्राप्त हो रहा है। राज्य सरकार के मंशानुरूप आज राज्योत्सव के साथ ही समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी प्रारंभ कर दी गई है। संसदीय सचिव श्री महाराज ने कहा कि प्रदेश में पारंपरिक त्यौहारों, पारंपरिक खेलों और संस्कृति पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है, तथा हमारी सरकार ग्रामीण परिवेश के पारंपरिक खेल लुप्त न हो इसके लिए छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक के माध्यम से पारंपरिक खेलों को पुनर्जीवित करने का ऐतिहासिक कार्य किया है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कलेक्टर विजय दयाराम के. ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य के मस्तक में विराजित वर्ष 2012 में गठित बलरामपुर-रामानुजगंज जिला छत्तीसगढ़ के साथ-साथ अपने 10 वर्षों को पूरा करने जा रहा है, तथा इन 10 वर्षों के अल्प अवधि में बलरामपुर-रामानुजगंज जिले ने शनैः-शनैः विकास की परिकल्पना को प्राप्त किया है। छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं से शासन के मंशानुरूप लोगों को लाभ दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी योजना के तहत् अब तक 327 गौठानों का निर्माण कर पशुपालकों से गोबर क्रय किया जा रहा है। कलेक्टर दयाराम के. ने कहा कि जिले के सभी नगरीय निकायों में श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर की स्थापना की गई है, तथा मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना के माध्यम से 74 हाट-बाजारों को चिन्हित कर मेडिकल वाहनों के माध्यम से लोगों का उपचार किया जा रहा है, इसके साथ ही मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की मोबाइल मेडिकल वैन के माध्यम से नगरीय क्षेत्र के नागरिकों को भी समय-समय पर घर के नजदीक स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ दिया जा रहा है।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग, वनमण्डलाधिकारी विवेकानन्द झा, जिला पंचायत सीईओ रीता यादव, अपर कलेक्टर एस.एस.पैकरा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ऑप्स) प्रशांत कतलम, जनपद पंचायत बलरामपुर के अध्यक्ष विनय पैकरा, उपाध्यक्ष भानू प्रकाश दीक्षित, नगर पालिका अध्यक्ष सुन्दरमणी मिंज, उपाध्यक्ष नवीन गुप्ता सहित जनप्रतिनिधि, जिले के अधिकारी-कर्मचारी, स्कूली छात्र-छात्राएं व आमजन उपस्थित रहे।