शराब के नशे में धुत शिक्षक ने स्कूल के मेन गेट पर जड़ा ताला, बच्चों से कहा घर जाओ; वीडियो वायरल होने पर कलेक्टर ने लिया एक्शन

छत्तीसगढ़ में नया शिक्षा सत्र शुरू हुआ है तब से शिक्षा व्यवस्था की लचर तस्वीरें लगातार सामने आ रही है। सत्र के शुरुआत यानी जुलाई के महीनों में स्कूली बच्चों से स्कूल की साफ-सफाई करवाना आम बात हो गया था। इसके बाद कई ऐसे शिक्षक सामने आए जो शराब सेवन कर स्कूल में बच्चों को पढ़ाने पहुंचे, लेकिन नशे में खुद को संभाल नहीं सके। ऐसे शराबी शिक्षकों पर कार्रवाई भी हुई। लेकिन ये सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले से सामने आया है। यहां नशे में धुत एक शिक्षक ने स्कूल में ताला जड़ दिया और स्कूल में पढ़ाई करने के लिए पहुंचे बच्चों को घर जानें के लिए कह दिया। यही नहीं गांव वालो के सामने हेडमास्टर के लिए अपशब्द भी कहे। शिक्षक की इस करतूत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसे संज्ञान में लेते हुए जिला कलेक्टर पीएस ध्रुव ने उक्त शराबी शिक्षक को निलंबित कर दिया है।

दरअसल, मामला खड़गंवा विकासखंड के संकुल केंद्र कोड़ा अंतर्गत ग्राम पंचायत धवलपुर का है। यहां प्राथमिक शाला जरहाखुटा में पदस्थ शिक्षक जगनाथ सिंह गुरुवार को सुबह शराब के नशे में धुत होकर स्कूल पहुंचा और स्कूल में मुख्य गेट पर ताला जड़ दिया। तब स्कूली बच्चे धीरे-धीरे स्कूल पहुंच रहे थे। इस दौरान शराब के नशे में धुत शिक्षक स्कूल के पास इकट्ठे ग्रामीणों से नशे में बहस कर रहा था। किसी ग्रामीण ने इस दौरान का वीडियो बना लिया जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में शिक्षक स्कूल से बाहर आए स्कूली बच्चों को घर जाने के लिए कह रहा है और अपने हेडमास्टर के लिए अपशब्द कह रहा है। शिक्षक नशे में इतना धुत था कि वह बार बार कह रहा था कि वह बहुत बड़ा आदमी है। उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता।

इधर जब शिक्षक के शराब के नशे में तांडव करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जो जिले के प्रशासनिक अधिकारियों सहित कलेक्टर पीएस ध्रुव तक पहुंचा। तब कलेक्टर ने उक्त वीडियो की जांच के बाद शराबी शिक्षक जगनाथ सिंह को निलंबित कर खडगंवा बीईओ कार्यालय में अटैच कर दिया है। जिला शिक्षा अधिकारी संजय गुप्ता ने बताया कि शिक्षक का वीडियो वायरल हुआ था। जिसके आधार पर एमसीबी के कलेक्टर ने उक्त शिक्षक को निलंबित कर दिया है। कलेक्टर पीएस ध्रुव ने एबीपी न्यूज को बताया कि शिक्षक का वीडियो वायरल हुआ था, जिसका जांच कराया गया। जांच में दोषी पाए जाने पर उक्त शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है। इस बाबत आदेश भी जारी हो गया है। निलंबन अवधि में शिक्षक खडगंवा बीईओ ऑफिस में अटैच रहेगा।

गौरतलब है कि सरगुजा संभाग में शिक्षा के मंदिर में शराब पीकर शिक्षकों के आने का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले मनेंद्रगढ़ ब्लॉक के लोहारी प्राथमिक स्कूल का शिक्षक खाटानंद यादव शराब के नशे में स्कूल के बाहर स्कूटी में सो गया था। इस दौरान का वीडियो भी वायरल हुआ था। जिसके बाद जिला शिक्षा अधिकारी ने शिक्षक को निलंबित कर दिया था। इसके अलावा दो दिन पहले सरगुजा जिले के सीतापुर ब्लॉक अंतर्गत ढोढीपारा के प्राइमरी स्कूल में एक शिक्षक नागेश्वर राम नागदेव नशे में धुत होकर स्कूल पहुंचा था। इस दौरान बीईओ औचक निरीक्षण पर पहुंचे थे। तब नशे में धुत शिक्षक स्कूल के फर्श पर लोटने लगा था। जांच के बाद उक्त शिक्षक को निलंबित कर दिया गया।