Chhattisgarh News: सक्ती में आईटी की नजरों से छुपाकर रखा काला धन पर किसकी नजर.? पुलिस ने चोरी होने पर अनाधिकृत रूप से खंगाला सीसीटीवी फुटेज; पुलिस व धन्ना सेठो ने शिकायत करने पर दी बलात्कार केस में फंसाने की धमकी, एसपी से शिकायत

सक्ती/जांजगीर: जिले में हुई आईटी की रेड ने नगर सहित पूरे जिले के धन्ना सेठों की नींद हराम कर दी है। धन्ना सेठों की नींद उड़ा देने वाली एक और खबर निकल कर सामने आई है, जिसमें आईटी की नजरों से बचाकर काला धन ग्राम पंचायत हरेठी में नौकर के रिश्तेदारों के यहां छिपाए जाने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। जिसे चोरी कर ले जाने की जानकारी मिलने पर सक्ती के धन्ना सेठों के द्वारा हरेठी स्थित रूई भंडार के संचालक के घर सीसीटीवी फुटेज खंगालने एवं रूई भंडार के संचालक को बलात्कार की धारा 376 एवं चोरी की धारा 379, 380 के झूठे मुकदमे में फसाये जाने की धमकी दिए जाने के संबंध में सक्ती जिले के पुलिस अधीक्षक से पुष्पेंद्र देवांगन के द्वारा लिखित शिकायत करते हुए इसकी जांच एवं सुरक्षा प्रदान किए जाने की मांग की है।

जानकारी के अनुसार, ग्राम पंचायत हरेठी निवासी पुष्पेन्द्र कुमार देवांगन पिता तुलसीराम देवांगन (28 वर्ष) ने सक्ती पुलिस अधीक्षक से की गई शिकायत की कॉपी देकर बताया की उसकी हरेठी मे मेन रोड मे श्रीनाथ रूई भंडार की दुकान है।

पुष्पेंद्र देवांगन ने अपनी शिकायत मे बताया है कि 15 नवंबर की सुबह लगभग 10 बजे से शाम करीब 5:30 बजे तक उक्त रूई भंडार में सक्ती के धन्ना सेठ अरुण कुमार अग्रवाल, अनिल कुमार अग्रवाल, कांग्रेस नेता एवं पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष श्याम सुन्दर अग्रवाल के द्वारा श्रीनाथ रूई भंडार के मकान में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगालने लगे।

बता दे कि, विगत दिनों सक्ती मे अनेक जगहों पर आई.टी. की रेड हुई थी। जिसमे धन्ना सेठों के द्वारा आई.टी की नजरो से बचाकर काला धन घर में काम करने वाली बाई के रिश्तेदार सावित्री चौहान, टोबो चौहान पिता पूरन चौहान के मकान ग्राम पंचायत हरेठी में रख दिया था। जिस मकान मे काला धन रखा गया था, उस मकान का ताला तोड़कर अज्ञात चोर चोरी कर काला धन को ले गया। जिसे ढूढ़ने के लिए अरुण कुमार अग्रवाल, अनिल कुमार अग्रवाल, आनंद अग्रवाल सावित्री ऑटो पार्ट्स एवं भूतपूर्व नगर पालिका अध्यक्ष श्याम सुन्दर अग्रवाल पुष्पेन्द्र देवांगन फर्म श्रीनाथ रुई भंडार के घर मे लगे 08 नग सीसीटीवी फुटेज खंगालने गए थे। धन्ना सेठों को किसी ने जानकारी उपलब्ध कराई थी कि हरेठी में रखा उनका काला धन उक्त रूई भंडार दुकान के सामने से चोरी कर ले गये है। इस बात की भनक लगते ही वे आव देखे ना ताव बिना किसी एफआईआर या ग्राम के मुखिया/सरपंच के अनुमति के बिना ही श्रीनाथ रूई भंडार की दुकान मे जबरन घुसकर सक्ती थाने मे पदस्थ आरक्षक भागवत श्रीवास्तव के साथ रूई भंडार संचालक एवं उसके परिवार वालों से पूछताछ करते हुए हाथापाई करने लगे।

पुष्पेंद्र ने बताया कि उनके द्वारा सीसीटीवी फूटेज चेक करते हुए डाटा को डिलीट करने की भी कोशिश की गई। बाद मे सीसीटीवी कैमरे का हार्ड डिस्क को रूई भंडार संचालक पुष्पेन्द्र देवांगन एवं उनके भाई मुकेश देवांगन एवं पिता तुलसीराम देवांगन की अनुमति के बिना ही धन्ना सेठों के कहने पर कम्प्यूटर आपरेटर द्वारा ले जाने की कोशिश की गई। यह सब इसलिए किया गया कि कहीं उनके काले धन का भंडाफोड़ न हो जाए।

पुलिस पर लगाया गंभीर आरोप…

पुष्पेंद्र के द्वारा हार्ड डिस्क को ले जाने से मना किये जाने पर पुष्पेन्द्र देवांगन को गिरफ्तार करके ले जाने की धमकी दी गई। उसके पश्चात बाराद्वार रोड हरेठी स्थित श्रीनाथ रुई भंडार के सामने एसडीओपी मो. तस्लीम आरीफ के द्वारा नागरिको के मध्य संचालक पुष्पेन्द्र देवांगन को बलात्कार की धारा 376 एवं चोरी धारा 379, 380 के झूठे केस में फंसा दिये जाने की धमकी दी गई है। जिस व्यक्ति के मकान मे यह काला धन छुपाकर रखा हुआ था, सीसीटीवी फुटेज खंगालने के दौरान वे सभी रूई भंडार में मौजूद थे, किंतु उसके बाद से वह सभी उसी दिन से ग्राम पंचायत हरेठी से गायब है। उन्हें ग्राम पंचायत हरेठी से भगा दिया गया है या वे स्वयं भाग गए है, यह एक बड़ा सवाल है जो अनेक संदेहो को जन्म देता है। यह जांच का विषय है।

लगातार मिल रही धमकियों से परेशान होकर आवेदक पुष्पेंद्र देवांगन ने सक्ती पुलिस अधीक्षक से लिखित शिकायत कर उच्च स्तरीय जांच कराए जाने एवं परिवार को सुरक्षा प्रदान किए जाने की मांग की है।