Home Breaking News Big Breaking: कांग्रेस के “भरोसे के सम्मेलन”आमंत्रण पत्र में चन्द्रपुर विधायक रामकुमार...

Big Breaking: कांग्रेस के “भरोसे के सम्मेलन”आमंत्रण पत्र में चन्द्रपुर विधायक रामकुमार यादव का नाम नही…बीजेपी, बीएसपी विधायक, सांसद का नाम शामिल…कांग्रेसीयो में गुटबाजी के चलते कटा विधायक का नाम…अब मुख्यमंत्री से होगी शिकायत…

जांजगीर चाम्पा (संजय यादव)… जिला मुख्यालय के पुलिस ग्राउंड में 13 अगस्त को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन सहित मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सभी कैबिनेट के मंत्री भरोसे के सम्मेलन में शामिल होंगे. इसकी तैयारी जोर-शोर से की जा रही है. वही कार्यक्रम को लेकर आमंत्रण पत्र भी छपवाया गया है. जिसमें जांजगीर चांपा जिले के सभी कांग्रेसी विधायकों का नाम अंकित है, लेकिन चंद्रपुर के कांग्रेसी विधायक रामकुमार यादव का नाम नहीं शामिल करना भूल गए है या ऐसा जानबूझकर किया गया है. क्या भूल से ऐसा हुआ है अब इस बात की पुष्टि कौन करेगा.जबकि बीजेपी एवं बीएसपी के विधायक एवं सांसदों का नाम शामिल है. जिसको लेकर कांग्रेसियों में भारी रोष है. कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का कहना है कि जिले के ऐतिहासिक कार्यक्रम में जहां राष्ट्रीय अध्यक्ष पहली बार आ रहे हैं वही आमंत्रण में कांग्रेसी कांग्रेसी विधायक का नाम शामिल नहीं होना आश्चर्य की बात है. जबकि विपक्ष के विधायकों सांसदों को शामिल किया गया. इसको लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री से शिकायत करने की बात कह रहे है. आमंत्रण कार्ड छपवाने की जिम्मेदारी किसकी थी, जिसके चलते यह भूल हुई है, क्या जिला प्रशासन के दिशा निर्देश पर यह आमंत्रण कार्ड छपवाया गया है या किसी वरिष्ठ कांग्रेसी के निर्देश पर आमंत्रण कार्ड को छपवाया गया, लेकिन यह बड़ी चुक कहीं जा सकती है. कि जिले में मात्र दो ही कांग्रेसी विधायक है उनका भी आमंत्रण पत्र में नाम नहीं होना यह कांग्रेसीयो में गुटबाजी बाजी को दर्शाता है।

जब दो नेता प्रतिपक्ष होंगे आमने-सामने….
कांग्रेस के भरोसे के सम्मेलन में कांगस के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्र सरकार में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन के कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ प्रदेश की नेता प्रतिपक्ष एवं जांजगीर चाम्पा के भाजपा विधायक नारायण चंदेल को भी आमंत्रण पत्र भेजा गया है व आमंत्रण पत्र में नाम शामिल किया गया है. इसलिए यह कार्यक्रम बड़ा ऐतिहासिक होने वाला है क्योंकि जब दो नेता प्रतिपक्ष आमने-सामने होंगे तो जरूर कुछ नई बात होगी… प्रदेश एवं केंद्र के नेता प्रतिपक्ष के बीच किस तरह तालमेल बैठती है.. क्या राजनीतिक खिचड़ी पकती है, क्या कांग्रेस के भरोसे के सम्मेलन में नेता प्रतिपक्ष नारायण चन्देल शामिल होंगे यह 13 तारीख को है पता चल पाएगा।