जोंक व्यपवर्तन योजना से खरीफ फसल की सिंचाई प्रारंभ, 81 गाँव होंगे लाभांवित

बालोदाबाज़ार। जिले में कसडोल विकासखण्ड के अंतर्गत स्थित वृहद कृषि परियोजना जोंक व्यपवर्तन के माध्यम से खरीफ सिंचाई हेतु जल प्रदान किया गया है। इस व्यपवर्तन से प्रतिवर्ष 81 गाँवो को लाभ मिलता हैं। वर्तमान में खंड वर्षा एवं अल्पवर्षा होने के कारण कृषकों की मांग पर जल उपलब्ध होने के कारण दिनांक 20 जुलाई से खरीफ सिंचाई हेतु जल प्रदाय प्रारंभ किया गया है।

जिनमे से ग्राम मानाकोनी, टिपरूंग, कोट, रामपुर, डेराड़ीह, अमोदी, नवापारा, धमलपुर, हसुवा, बलौदा, दर्रा, गिरौद, मड़वा, मटिया, मोहतरा, कोटियाड़ीह, अमलीड़ीह, बरपाली, सेमरा, गिधैरी, घटमड़वा, पुलेनी, कुम्हारी, अमलीड़ीह, खपराड़ीह, टुण्डरा, नरधा, पुरगांव, भोथीड़ीह, कोरकोटी, टुण्डरी, अमलडीहा, ठाकुरदिया, सोनाडुल, कैथा, परसाडीह, मुड़पार, बनाहिल, पचरी, पथरिया, नगरदा, बेलमुड़ी, तेन्दुमुड़ी, गोरबा, बेल्हा, दोमुहानी, दुरूमगढ़, माहुलडीह, बेलटिकरी, चुरूेला, जमगहन, धारासिव, मधुबनकला, ठरकपुर, छपोरा, गिरवानी, सलोनीखुर्द, बंदारी, सलोनीकला, भटगांव, डोंगियाभाठा, घाना, गदहाभाठा, चिकनीडीह, ओटगन, करमंदी एवं ग्राम जोरा इस तरह 67 ग्रामों को खरीफ सिंचाई हेतु जल प्रदाय किया जा रहा है।

अंतिम छोर के बचें ग्रामों में 2 से 3 दिनों के अंदर पानी पंहुचने की संभावना है। नहरों से जल प्रवाह जारी है। आज की स्थिति में जोंक नदी में जल प्रवाह के कारण पर्याप्त मात्रा में जल उपलब्ध है एवं मुख्य नहर से 630 क्यूसेक पानी दिया जा रहा है। आगामी सप्ताह में प्रथम सिंचाई पूर्ण होने की संभावना है।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें-

Facebook, TwitterWhatsAppTelegramGoogle News