SBI ने की बड़ी घोषणा. सर्विस चार्ज में हो सकते ये बदलाव

फटाफट डेस्क. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) अपने कई सर्विस चार्जेज में बदलाव करने की तैयारी में है. अब SBI ग्राहकों को न्यूनतम राशि के परेशानी से स्वतंत्र करने की तैयारी चल रही है. इस योजना के तहत बैंक खाते में मंथली एवरेज बैलेंस मेंटेन नहीं करने पर सर्विस शुल्क में लगभग 80 प्रतिशत तक कम हो सकती है. इसके साथ NEFT और RTGS जैसे डिजिटल मोड के जरिए ट्रांजेक्शन भी सस्ता करने की योजना कर रहा है. जानकारी के मुताबिक SBI के नए सर्विस चार्ज 1 अक्टूबर से लागू हो सकते हैं.

बता दे कि मिनिमम मंथली एवरेज बैलेंस मेंटेन न कर पाने पर SBI इस प्रकार पेनल्टी कर सकती है. शहरी क्षेत्रों में फिलहाल SBI ब्रांच में बैंक खाता खुलवाने वाले लोगों को 5000 रुपये और 3000 रुपये तक तक मिनिमम मंथली एवरेज बैलेंस रखना जरूरी होता है. लेकिन 1अक्टूबर से यह शुल्क घटकर शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 3000 रुपये हो सकता है. अगर किसी के खाता का न्यूनतम शुल्क 3000 रुपये में 75 प्रतिशत से ज्यादा कम हुआ तो पेनल्टी 15 रुपये और GST लग सकता है. जो अभी 80 रुपये और GST है. इसके अलावा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के ATM चार्ज भी 1 अक्टूबर से बदल सकते हैं. ग्राहक बड़े शहरों के ATM से अधिकतम 10 बार फ्री डेबिट कर सकेंगे और अन्य जगहों के ATM से अधिकतम 12 बार फ्री पैसा निकाल सकेंगे.

सेविंग्स बैंक खाता रखने वाले ग्राहकों के लिए एक फाइनेंसियल ईयर में पहले 10 चेक मुफ्त होंगे. इसके बाद 10 चेक वाली चेकबुक 40 रुपये + GST और 25 चेक वाली चेकबुक के लिए 75 रुपये+ GST लिया जाएगा. सीनियर सिटीजन और सैलरी पैकेज खाता के लिए चेक मुफ्त होंगे. इसके साथ 1 अक्टूबर से बैंक शाखा में NEFT/ RTGS से लेन-देन पर शुल्क इस तरह होंगे. 10 हजार रुपये के लेन-देन पर किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा.