SOS बालिका आश्रम में नाबालिग से रेप का मामले में बवाल, DNA रिपोर्ट मिसमैच होने के बाद…BJP नेताओं ने किया धरना प्रदर्शन

Raipur: छत्तीसगढ़ की राजधानी में माना स्थित SOS बालिका गृह में नाबालिग से हुई बलात्कार के मामला नया मोड़ पर आ गया हैं। दरअसल, नाबालिग ने जिस बच्ची को जन्म दिया था। उसका और नाबालिग से बलात्कार करने वाले आरोपी अंजनी शुक्ला (जो जेल में बंद हैं) का DNA मिसमैच हो गया। यानि कि जो जेल में बंद आरोपी हैं उसके अलावा किसी और ने भी नाबालिग से बलात्कार किया हैं। इस मामले को लेकर सोमवार को BJP नेताओं ने रायपुर के महतारी के सामने धरना प्रदर्शन किया।

धरने पर बैठे भाजपा जिला अध्यक्ष जयंती पटेल ने कहा – बाल आश्रम में नाबालिग लड़की के साथ कुछ लोगों ने रेप जैसे कृत किया, इसके बाद जून से लेकर नवंबर तक FIR दर्ज नहीं की गई। प्रदेश सरकार इस मामले को दबाने का प्रयास कर रही थी..लेकिन नाबालिग प्रेगनेंट हो गई। जिसके बाद आनन फानन में किसी और व्यक्ति को दोषी करार जेल भेजवा दिया। जब नाबालिग ने बच्ची को जन्म दिया और उस बच्ची और जो जेल में बंद आरोपी अंजनी शुक्ला का DNA मिसमैच हो गया। इसका मतलब इस वारदात में और भी लोग शामिल जो आज तक पकड़े नहीं गए हैं।

उन्होंने कहा कि जब तक महिला एवं बाल विकास विभाग मंत्री अनिला भेड़िया इस्तीफा नहीं देंगे तब तक हम ये आंदोलन जारी रखेंगे। यह आंदोलन छत्तीसगढ़ महतारी के सामने है उनसे यह मांग कर रहे हैं की कांग्रेस की सरकार को सद्बुद्धि दे जिसे यहां के लोगों का बलाई हो।