Thursday, January 17, 2019
Home आध्यात्म तीर्थ स्थल

तीर्थ स्थल

तीर्थ स्थल ,आध्यात्म की खबरें

श्री काशी विश्वनाथ मंदिर,, वाराणसी

भारत की सबसे पवित्र नदी गंगा के पश्चिमी किनारे पर खड़े , वाराणसी दुनिया का सबसे पुराना जीवित शहर और भारत की सांस्कृतिक राजधानी...

सरगुजा और अंबिकापुर के तीर्थ स्थल.. मां महामाया की नगरी अंबिकापुर

सरगुजा संभाग मुख्यालय अम्बिकापुर  की पूर्वी पहाडी पर प्राचिन महामाया देवी का मंदिर स्थित है।  महामाया या अम्बिका देवी के नाम पर सरगुजा संभाग...

जाने श्री प्रिया शरण त्रिपाठी द्वारा इस सप्ताह का राशी फल..और करें अपनी मुश्किलें...

देश दीपक “सचिन” हमारे पोर्टल पर लगे इस समाचार में देश के सुप्रसिद्ध  ज्योरिषाचार्य पंडित श्री  प्रिया शरण त्रिपाठी जी के द्वारा समस्त राशियों के जातको...

यहां मां पार्वती ने खोजा था ‘नमः शिवाय’ का अर्थ

दक्षिण भारत में कपालेश्वर मंदिर मायलापुर चैन्नई तमिलनाड़ु में स्थित है। भगवान शिव का यह मंदिर 1250 ईसवी में बनाया गया। महाशिवरात्रि पर यहां...

आस्था ग्राम्य देवी के रूप में विराजमान हैं सिद्धिदात्री मां कौशलेश्वरी देवी

आस्था और संस्कृति का प्रतीक ग्राम कोसीर लक्ष्मीनारायण लहरे युवा साहित्यकार ,समीक्षक, पत्रकार रायगढ कोसीर से गोल्डी कुमार  जिले के सबसे बडे गाॅव कोसीर सारंगढ विकास खण्ड...

ओरछा.. जहांगीर महल, राजमहल, राय प्रवीण महल, रामराजा मंदिर की नगरी

ओरछा ओरछा राज्य की स्थापना 16वीं सदी में बुन्देला राजपूत रूद्रप्रताप ने की थी। ओरछा के प्रांगण में अनेक छोटे मकबरे और स्मारक हैं। इनमें...

सावन में कैसे करें शिव की उपासना.. कैसे हरेंगे आपके संकट…

    एक माह में शिव हरेंगे सभी कष्ट श्रावण या सावन शब्द उच्चारित होते ही मन में उत्साह और उमंग उमड पडता है। श्रावण मास की...

ज्वालादेवी मंदिर………….. हिमाचल प्रदेश

कांगड़ा घाटी, हिमाचल प्रदेश से क़रीब 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ज्वालादेवी मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यहाँ माँ शक्ति की नौ...

आज तक पानी से नहीं भरा इस मंदिर का घड़ा..वैज्ञानिक भी हैरान

देखा जाए तो भारत का इतिहास बहुत समृद्ध रहा है, भारत भूमि शुरू से ही चमत्कारों और भक्ति धारा की भूमि रही है, इसी...

70 किलो सोना और 450 किलो चांदी के साथ प्रकट हुए गणपति..!

सोमवार का दिन हालांकि अन्य दिनों की ही तरह था पर काफी लोगों के लिए यह दिन बहुत अहम था। जब भारत के अलग-अलग...
error: Content is protected !!