बलरामपुर: देखिए सबसे महंगे और खूबसूरत कलेक्ट्रेट का एक हिस्सा..नही झेल पाया पानी को..और अब क्या हो गया?..पढिये पूरी खबर!..

28556

बलरामपुर..(कृष्णमोहन कुमार)..जिलामुख्यालय सबसे खूबसूरत और महंगी इमारत का आज दीवार ढह गया..दीवार को किसी ने ढहाया नही बल्कि वह खुद ढेर हो गया..और यह घटनाक्रम मुख्यालय के सबसे पॉवरफुल बिल्डिंग के लिए शुभ संकेत नही है..

दरअसल 29 करोड़ की लागत से बलरामपुर में सयुंक्त जिला कार्यालय भवन का निर्माण कराया गया था..और पिछले एक साल से इसी इमारत पर जिले के महत्वपूर्ण विभागों के कार्यालयों का संचालन हो रहा है..और आज इसी इमारत के पिछले हिस्से पर वाहन पार्किंग के लिए बनाए गए शेड के ठीक सामने स्थित इमारत के शो के लिए बनाए गए बरामदे का दीवार ढह गया है..और दीवार का मलबा वही ढेर में तब्दील हो गया है..

इसके अलावा यह इमारत जितना महंगा है..उतना ही खूबसूरत इसका ड्राइंग डिजाइन है..इसकी बनावट ने तो पूरे प्रदेश में सुर्खियां बटोरी थी..और तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह से लेकर तत्कालीन लोकनिर्माण विभाग के मंत्री राजेश मूणत ने इस इमारत की खूबसूरती की तारीफ की थी..हालांकि राजेश मूणत ने कार्य एजेंसी और ठेकेदार को निर्माण की गुणवत्ता को लेकर फटकार भी लगाई थी..

बता दे कि सयुंक्त जिला कार्यालय परिसर के निर्माण की आधार शिला जिले के तत्कालीन कलेक्टर एलेक्स पॉल मेनन के समय रखी गई थी..और निर्माण में हो रही देरी के चलते इस इमारत की लागत 10 करोड़ से 29 करोड़ तक जा पहुँची थी..बताते है कि इस इमारत में मिट्टी के कच्चे ईंट का उपयोग किया गया था..और दीवाल बनाने के लिए कच्चे इटो को मिट्टी से ही जोड़ा गया था..शायद यही वजह है कि तीन दिनों तक रुक-रुककर हो रही बारिश से यह दीवार पानी के सीड़न झेल नही पाया होगा और धराशायी हो गया..

भारत की हार पर लोगों की राय