मंत्री ने की ऐसी बेतुकी बयानबाजी कि निर्वाचन आयोग को देनी पड़ी सफाई. होने को तो हो सकती थी कार्यवाही!..

17105

रायपुर : छत्तीसगढ़ के एक बडबोले मंत्री के दिए बयान से जहां कांकेर लोकसभा चुनाव मे बवाल मच गया है. तो वहीं मंत्री के इस बयान के बाद छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू को इस मामले मे सफाई देनी पड़ी है. सुब्रत साहू ने अपनी सफाई मे कहा है कि इलेक्ट्राॅनिक वोटिंग मशीन (EVM) पूरी तरह बैटरी यानी DC से संचालित होने वाली मशीन है. EVM को सीधे बिजली आपूर्ति नहीं होती है. उसे alternative current मतलब AC नहीं दिया जाता है. वोटिंग के समय EVM का सीधे तौर पर Electricity (AC) से कोई संबंध नहीं होने से करेन्ट लगने का कोई प्रश्न ही नहीं है.
इतना ही नहीं आयोग ने मंत्री का बिना नाम लेते हुए कहा है कि न्यूज चैनल और सोशल मीडिया के माध्यम से राजनेताओं के प्रसारित चुनावी भाषण जो बटन दबाने से करंट लगता वाला पूरी तरह निराधार एवं भ्रामक है.

दूसरे नंबर का बटन दबाने से लगता है करंट..
छत्तीसगढ़ के आबकारी, वाणिज्य और उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने कांकेर लोकसभा क्षेत्र के कोरार में कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष मे चुनावी रैली को संबोधित करते हुए एक आपत्तिजनक बयान दिया था. जिसमे उन्होने कहा कि यदि वोट डालते समय ईवीएम के दूसरे नंबर का बटन यानी भाजपा का बटन दबाओगे तो करंट लगेगा. उन्होंने कहा कि पहले नंबर मतलब कांग्रेस का बटन दबाना. दूसरे नंबर का दबाओगे तो करंट लगेगा, तीसरे नंबर का दबाओगे तो भी करंट लगेगा. इतना ही नहीं इसके पहले भी कवासी लखमा ने भानुप्रतापपुर मे एक चुनावी रैली मे पूर्व मुख्य मंत्री को फर्जी डाक्टर बोलकर लोगों का ध्यान अपनी ओर करने की कोशिश की थी..

  • 29
    Shares