स्टार प्रचारक तो छोड़िए साहब..यहाँ बेजुबान जानवर भी है चुनाव प्रचार में!..लगता है पार्टी का चुनाव चिन्ह नही आया काम…

6325

कवर्धा..लोकसभा चुनाव को लेकर सियासी पारा गर्म है..और देश की दोनों ही राजनैतिक पार्टियों यानि कांग्रेस और भाजपा आमने सामने है..ऐसे में आरोप प्रत्यारोप के साथ ही चुनाव प्रचार अभियान भी चरम सीमा पर है..लेकिन दिलचस्प तो यह है कि इस बार प्रदेश के सत्ताधारी दल कांग्रेस अपने प्रचार अभियान में भैसों को भी शामिल कर लिया है..

दरअसल प्रदेश की सियासत की कमान लगातार 15 वर्षो तक भाजपा के हाथों रही..और रमन सिंह प्रदेश के मुखिया रहे..रमन सिंह पहले कभी राजनांदगांव संसदीय सीट से सांसद भी रहे..और बाद में उन्हें सीएम बनने का सौभाग्य मिला..इस सीट पर भाजपा की पैठ रही है. और मौजूदा दौर में डॉक्टर रमन के बेटे अभिषेक इस सीट से सांसद है..लेकिन इस बार भाजपा ने प्रदेश के सभी 10 सांसदों की टिकट काट दी..सो अभिषेक की भी टिकट कट गई..ऐसे में इस बार लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भाजपा ने सन्तोष पांडेय पर दांव लगाया है..और चुनाव मैदान में है..अब बता दे कि जिस चुनाव के प्रचार में अपनी उपलब्धियों और घोषणा पत्र के जरिये विभिन्न राजनैतिक दल वोटरों तक पहुँचती है..और वोट मांगती है..लेकिन इस बार इस संसदीय सीट पर प्रचार करने का कांग्रेस का अपना अलग पैतरा है..पंडरिया विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस ने अपने प्रचार अभियान का हिस्सा बेजुबान भैसों को बनाया है..भैसों के शरीर पर आकर्षित करने वाले स्लोगन लिखे गए है..जो वोटरों का ध्यान आकर्षित किये हुए है..और सियासी गलियारों में इस फार्मूले की जमकर चर्चा हो रही..

फिलहाल चुनाव है..5 साल में एकबार होता है..कोई अपनी भड़ास निकालता है तो कोई अपनी खुशी जाहिर करता है..ऐसे में यह कह पाना मुश्किल है कि कांग्रेस का यह प्रचार कितना रंग लाएगा…

  • 1
    Share