आज का राशिफल..जानिए कैसा रहेगा आज आप का दिन!..

330

दिनाँक-: 09/04/2019,मंगलवार
चतुर्थी, शुक्ल पक्ष
चैत्र
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि————-चतुर्थी16:07:05 तक
पक्ष—————————–शुक्ल
नक्षत्र———-कृत्तिका10:18:50
योग———-आयुष्मान18:55:09
करण———विष्टि भद्र16:07:05
करण—————भाव27:54:20
वार————————-मंगलवार
माह——————————-चैत्र
चन्द्र राशि———————-वृषभ
सूर्य राशि————————मीन
रितु——————————वसंत
आयन———————उत्तरायण
संवत्सर———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर)———–परिधावी
विक्रम संवत—————–2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2075
शाका संवत——————1941

वृन्दावन
सूर्योदय—————–06:02:46
सूर्यास्त——————18:39:19
दिन काल————– 12:36:33
रात्री काल————–11:22:22
चंद्रोदय——————08:41:45
चंद्रास्त——————22:28:16

लग्न—-मीन24°46′ , 354°46′

सूर्य नक्षत्र———————-रेवती
चन्द्र नक्षत्र——————कृत्तिका
नक्षत्र पाया———————लोहा

??? पद, चरण ???

ए—-कृत्तिका 10:18:50

ओ—-रोहिणी 16:24:28

वा—-रोहिणी 22:28:43

वी—-रोहिणी 28:31:35

??? ग्रह गोचर ???

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=मीन 24 ° 52 ‘ रेवती, 3 च
चन्द्र =वृषभ 07 ° 13 ‘कृतिका’ 4 ए
बुध=कुम्भ 26°50′ पू oभा o ‘ 2 दा
शुक्र=कुम्भ 21°36, पू oभा o , 1 से
मंगल=वृषभ 11 ° 47 ‘ रोहिणी’ 1 ओ
गुरु=धनु 00 ° 16 ‘ मूल , 1 ये
शनि=धनु 25°57′ पू o षा o ‘ 4 ढा
राहू=मिथुन 28°20 ‘ पुनर्वसु , 3 हा
केतु=धनु 28 ° 20′ उo षाo, 1 भे

???शुभा$शुभ मुहूर्त???

राहू काल 15:30 – 17:05अशुभ
यम घंटा 09:12 – 10:46अशुभ
गुली काल 12:21 – 13:56अशुभ
अभिजित 11:56 -12:46शुभ
दूर मुहूर्त 08:34 – 09:25अशुभ
दूर मुहूर्त 23:13 – 24:03*अशुभ

?चोघडिया, दिन
रोग 06:03 – 07:37अशुभ
उद्वेग 07:37 – 09:12अशुभ
चाल 09:12 – 10:46शुभ
लाभ 10:46 – 12:21शुभ
अमृत 12:21 – 13:56शुभ
काल 13:56 – 15:30अशुभ
शुभ 15:30 – 17:05शुभ
रोग 17:05 – 18:39अशुभ

?चोघडिया, रात
काल 18:39 – 20:05अशुभ
लाभ 20:05 – 21:30शुभ
उद्वेग 21:30 – 22:55अशुभ
शुभ 22:55 – 24:21शुभ अमृत 24:21 – 25:46शुभ चाल 25:46 – 27:11शुभ रोग 27:11 – 28:36अशुभ काल 28:36 – 30:02*अशुभ

?होरा, दिन
मंगल 06:03 – 07:06
सूर्य 07:06 – 08:09
शुक्र 08:09 – 09:12
बुध 09:12 – 10:15
चन्द्र 10:15 – 11:18
शनि 11:18 – 12:21
बृहस्पति 12:21 – 13:24
मंगल 13:24 – 14:27
सूर्य 14:27 – 15:30
शुक्र 15:30 – 16:33
बुध 16:33 – 17:36
चन्द्र 17:36 – 18:39

?होरा, रात
शनि 18:39 – 19:36
बृहस्पति 19:36 – 20:33
मंगल 20:33 – 21:30
सूर्य 21:30 – 22:27
शुक्र 22:27 – 23:24
बुध 23:24 – 24:21
चन्द्र 24:21* – 25:17
शनि 25:17* – 26:14
बृहस्पति 26:14* – 27:11
मंगल 27:11* – 28:08
सूर्य 28:08* – 29:05
शुक्र 29:05* – 30:02

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

?दिशा शूल ज्ञान—————-उत्तर
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा गुड़ खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

? अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

4 + 3 + 1= 8 ÷ 4 =  0 शेष

पृथ्वी लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

? शिव वास एवं फल -:

4 + 4 + 5 = 13 ÷ 7 = 6 शेष

क्रीड़ायां = शोक ,दुःख कारक

?भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

दोपहर 16:06 तक समाप्त

स्वर्गलोक = शुभ कारक

?? विशेष जानकारी ??

  • नवरात्रि चतुर्थ दिन (कुष्मांडा पूजन)
  • दमनक चतुर्थी
  • रोहिणी व्रत
  • सर्वार्थ सिद्धि योग 10:40 तक

??? शुभ विचार ???

अन्तर्गतमलौ दुष्टः तीर्थस्नानशतैरपि ।
न शुध्दयति यथा भाण्डं सुरदा दाहितं च यत् ।।
।।चा o नी o।।

आप चाहे सौ बार पवित्र जल में स्नान करे, आप अपने मन का मैल नहीं धो सकते. उसी प्रकार जिस प्रकार मदिरा का पात्र पवित्र नहीं हो सकता चाहे आप उसे गरम करके सारी मदिरा की भाप बना दे.

??? सुभाषितानि ???

गीता -: संख्यायोग अo-02

रागद्वेषवियुक्तैस्तु विषयानिन्द्रियैश्चरन्‌ ।,
आत्मवश्यैर्विधेयात्मा प्रसादमधिगच्छति ॥,

परंन्तु अपने अधीन किए हुए अन्तःकरण वाला साधक अपने वश में की हुई, राग-द्वेष रहित इन्द्रियों द्वारा विषयों में विचरण करता हुआ अन्तःकरण की प्रसन्नता को प्राप्त होता है॥,64॥,

?? दैनिक राशिफल ??

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

?मेष
बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। नवीन वस्त्राभूषण पर व्यय होगा। कोई बड़ा लाभ होने के योग हैं। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। कारोबार में वृद्धि होगी। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड इत्यादि लाभदायक रहेंगे। चोट व रोग से बचें। प्रमाद न करें।

?वृष
किसी आवश्यक कार्य में बाधा उत्पन्न हो सकती है। तनाव रहेगा। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। दस्तखत करने के पहले कागज ध्यान से पढ़ें। किसी अपने का व्यवहार प्रतिकूल हो सकता है। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। धनार्जन होगा।

?मिथुन
डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। नए अनुबंध हो सकते हैं। आय में वृद्धि होगी। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

?कर्क
योजना फलीभूत होगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। आय में वृद्धि होगी। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। उत्साह व प्रसन्नता से कार्य कर पाएंगे। सामाजिक कार्य करने से प्रतिष्ठा बढ़ेगी। जल्दबाजी न करें। व्यस्तता रहेगी। व्यापार ठीक चलेगा।

?सिंह
भ्रम की स्थिति बन सकती है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। पूजा-पाठ में मन लगेगा। सत्संग का लाभ प्राप्त होगा। कानूनी अड़चन दूर होगी। नौकरी में मातहतों का सहयोग प्राप्त होगा। व्यापार-व्यवसाय से मनोनुकूल लाभ होगा।

?‍♀कन्या
वाणी पर नियंत्रण रखें। भावना में न बहें। वाहन, मशीनरी व अग्नि आदि के प्रयोग में लापरवाही न करें। पुराना रोग उभर सकता है। आय बनी रहेगी। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। नौकरी में अधिकारी की अपेक्षाएं बढ़ेंगी।

⚖तुला
राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। अटके काम पूरे होंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। कुंआरों को विवाह का प्रस्ताव प्राप्त हो सकता है। घर-परिवार में प्रसन्नता रहेगी। दुष्टजनों से सावधान रहें। जल्दबाजी से बचें ।

?वृश्चिक
स्थायी संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। कारोबारी मुनाफा बढ़ेगा। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। नौकरी में प्रभाव वृद्धि होगी। निवेश शुभ रहेगा। जल्दबाजी न करें।

?धनु
छोटी-मोटी यात्रा हो सकती है। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता प्राप्त होगी। स्वादिष्ट व्यंजन का आनंद प्राप्त होगा। नौकरी में नया कार्य कर पाएंगे। कारोबारी लाभ में वृद्धि होगी।

?मकर
किसी भी तरह के वाद-विवाद में हिस्सा न लें। स्वाभिमान को चोट पहुंच सकती है। शोक समाचार मिलने की संभावना है, धैर्य रखें। मेहनत अधिक होगी। थकान व कमजोरी रह सकती हैं। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। जोखिम न लें।

?कुंभ
प्रेम-प्रसंग में अपेक्षाओं पर नियंत्रण रखें। पिछले समय की गई मेहनत का फल मिलेगा। लोगों की मदद कर पाएंगे। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। किसी बड़े कार्य को करने की योजना फलीभूत होगी।

?मीन
दूर से अच्छी खबर मिल सकती है। उत्साह व प्रसन्नता में वृद्धि होगी। नए मित्र बनेंगे। आत्मविश्वास बढ़ेगा। काम में मन लगेगा। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। भाग्य का साथ रहेगा।

?आपका दिन मंगलमय हो?
?????????
ज्योतिर्विद पं० शशिकान्त पाण्डेय (दैवज्ञ)
9930421132
(रत्न,वास्तु,ज्योतिष, अंक शास्त्र विशेषज्ञ)