कांग्रेस ने की एक ओर कद का पैमाना नापने की कवायद ..तो दूसरी ओर खेला जातिगत समीकरण का खेल..और कर दिया प्रत्याशियों के नामों का ऐलान!..

3355

फ़टाफ़ट डेस्क..कांग्रेस ने आज देर शाम प्रदेश की दो हाईप्रोफाइल लोकसभा सीटों दुर्ग और कोरबा के लिए अपने प्रत्याशियों की नामों की घोषणा कर दी है..
बता दे कि दुर्ग सीट कांग्रेस के पाले में है..तो कोरबा सीट पर भाजपा का कब्जा है..ये वो सीटे है. जिसमे कभी केंद्र में यूपीए सरकार के समय मे चरणदास महंत सांसद चुने गए..और बाद में मनमोहन सिंह की सरकार में खनिज उर्वरक राज्य मंत्री बनकर छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व किया..यही नही मौजूदा दौर में तो दुर्ग लोकसभा सीट ने लोकसभा चुनाव 2014 में कांग्रेस की लाज बचायी थी..जहाँ से ताम्रध्वज साहू सांसद चुने गए..

बहरहाल कांग्रेस ने कोरबा सीट से विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत की पत्नी ज्योत्सना महंत को चुनाव मैदान में उतार कर चरणदास महंत के पार्टी में कद के पैमाने को परखने की कोशिश की है..की वे बगैर चुनावी समर में क्या कमाल दिखा पाएंगे.. जबकि दुर्ग सीट पर कांग्रेस ने पूर्व विधायक प्रतिमा चन्द्राकर को अपना प्रत्याशी बनाया है.और जातिगत समीकरणों में तालमेल बिठाने की कोशिश की है..प्रतिमा चन्द्राकर विधानसभा चुनाव के समय पार्टी से नाराज थी..और उन्होंने पार्टी से इस्तीफा भी दिया था..पर वह इस्तीफा नामंजूर करते हुए पार्टी आलाकमान उन्हें मनाने में कामयाब रहे..प्रतिमा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की करीबी मानी जाती रही है..और उन्हें विधानसभा चुनाव 2018 में टिकट भी दिया गया था..पर एन वक्त पर दिल्ली दरबार ने अपना फैसला बदलते हुए प्रतिमा की टिकट काट दी थी..और अब इस बार के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने जहाँ मुख्यमंत्री बघेल के भतीजे विजय बघेल को टिकट दी है..तो कांग्रेस ने प्रतिमा पर दांव लगाया है..और यह दोनों प्रत्याशी कुर्मी समाज से है..यही नही दुर्ग लोकसभा क्षेत्र में कुर्मी और तेली समाज की बहुलता है..

  • 2
    Shares