साहब मेरे साथ हुआ है धोखा..मैंने नही कराया पंजीयन..किसी और ने बेचा है धान..मचा हड़कंप!..

18095

बलरामपुर..(कृष्णमोहन कुमार)..जिले के सीमावर्ती क्षेत्र के बलंगी धान खरीदी केंद्र में 14 किसानों के नाम से फर्जी पंजीयन कराकर धान बेचे जाने का मामला सामने आया है..और इस मामले में प्रदेश के सहकारिता मंत्री प्रेमसाय सिह टेकाम के आदेश के बाद कलेक्टर ने जांच टीम गठित कर दी है..

दरसल जिले के वाड्रफनगर विकासखंड के ग्राम चपोता के दो किसानों धनसाय और रामसकल ने सहकारिता मंत्री से स्टाम्प पेपर में लिखित शिकायत दर्ज कराई की थी..उनके नाम पर फर्जी तरीके से सहकारी समिति बलंगी में समिति प्रबंधक के साथ मिलीभगत कर 260 क्विंटल धान बेचा गया है..इसके अलावा सहकारिता मंत्री को किये गए लिखित शिकायत में 16 किसानों के नामो की फेहरिस्त भी दी गई ..जिसे ये किसान फर्जी ढंग से धान खरीदे जाने का आरोप लगा रहे है..

जानकारी के मुताबिक ग्राम चपोता के 70 वर्षीय किसान रामसकल के पास 08.47 हेक्टेयर जमीन है..जिंसमे लगभग 40 हेक्टेयर भूमि ही उपजाऊ है..और उनके नाम पर फर्जी तरीके से बलंगी सहकारी समिति में फर्जी तरीके से पंजीयन कराकर लगभग 140 क्विंटल धान सहकारी समिति में खपाया गया है..इतना ही नही ग्राम चपोता के ही धनसाय की भी गांव में 6.840 हेक्टेयर जमीन है..और 40 हेक्टेयर जमीन पर ही वे धान उपजा पाते है..जिसमें 6 क्विंटल धान ही उपज पाता है..जबकि सहकारी समिति के प्रबंधक और कम्प्यूटर आपरेटर की मिलीभगत से पंजीयन कराकर 120 क्विंटल धान बलंगी सहकारी समिति में बेची गई है.

वही इन किसानों की माने तो उन्होने अबतक समर्थन मूल्य पर धान बेचा ही नही है..उनका आरोप है की क्षेत्र में सक्रिय बिचौलिए सीमावर्ती राज्य मध्यप्रदेश से धान लाकर खपा रहे है.

किसानों ने आरोप यह भी लगाया है..की जिस तरह से उनके नाम पर धान बेची गई है..उन्हें संदेह है की ठीक उसी तरह 14 किसानों के साथ भी यही खेल खेला गया होगा..

  • 55
    Shares