समितियों अवैध रूप से धान बेचने वाले कोचिंयो और बिचैलियों पर कार्यवाही, अब तक 47 प्रकरणों में 27 वाहनों पर कार्यवाही..

2046
logo

 
जांजगीर-चांपा. सहकारी विपणन वर्ष 2018-19 हेतु समर्थन मूल्य पर जिले में स्थापित 205 उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान की खरीदी की जा रही है। पंजीकृत रकबे के अनुसार पंजीकृत किसानों से धान की खरीदी की जा रही है। कलेक्टर श्री नीरज बनसोड़ ने धान खरीदी के सुचारू संचालन और निगरानी के लिए जिला स्तरीय और उपार्जन केन्द्र स्तर पर नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की गई है। नोडल अधिकारियों में राजस्व, कृषि, खाद्य और कृषि उपज मण्डी के  अधिकारियों को तैनात किया गया है। इन अधिकारियों द्वारा उपार्जन केन्द्रों मंे अवैध रूप से धान ले जाने वाले कोचिंयो और बिचैलियों पर लगातार निगाह रखी जा रही है। इसी कड़ी में इन अधिकारियांे के दलों द्वारा जिले के विभिन्न हिस्सों मंे आकस्मिक निरीक्षण कर अब तक 47 प्रकरण दर्ज कर 1 हजार 320 क्विंटल से अधिक धान जब्त कर अवैध रूप से धान परिवहन करने वाले 27 वाहनों को पुलिस थाने के हवाले किया गया है। उपार्जन केन्द्रों मंे अवैध रूप से धान लाने, कोचिंयो और बिचैलियों एवं वाहनों पर मंडी अधिनियम के तहत सख्त कार्यवाही की जा रही है। कलेक्टर श्री बनसोड़ ने धान खरीदी कार्य हेतु संलग्न नोडल अधिकारियों को समितियों मंे अवैध रूप से धान लाने वाले कोचियों, बिचैलियों एवं वाहनों पर लगातार निगाह रखने के निर्देश दिये हैं। उन्हांेने कहा है कि इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही की बात कही है। उल्लेखनीय है कि समर्थन मूल्य के तहत धान खरीदी का कार्य 1 नवंबर 2018 से प्रारंभ किया गया था और यह कार्य 31 जनवरी 2019 तक चलेगा।  

  • 12
    Shares
logo