ब्रेकिंग: बारिश नहीं रूकी तो महानदी के कारण बिगड सकते है महासमुंद के हालात …

4565

महासमुंद…पिछले दो दिनों से जिले में हो रही बारिश ने मुसीबत खडी कर जी है.. मुसीबत की तरह बरस रही बारिश की वजह से जिले मे बहने वाली महानदी समेत अन्य नदी. नाले उफान पर हैं.. जिसके वजह से कई बस्तियों, स्कूलों मे जल भराव की स्थिति निर्मित हो गई है.. और प्रशासन ने बारिश के रूख को देखते हुए आधा सैकड़ा गांवों मे एलर्ट जारी कर दिया है….

जानकारी के मुताबिक जिले मे भारी बारिश की वजह से सबसे अधिक जल भराव महानदी मे बना हुआ है.. इसलिए प्रशासन ने इसके किनारे बसे 47 गांवों में अलर्ट जारी कर दिया है.. जिले की उफनती नदियों और नालों की वजह से जिन गांवो मे नदी का पानी घुस गया है उनमे जिले के कुकराडीह, तेन्दूवाही, खड़सा, लहंगर सहित कई अन्य गांव शामिल हैं.. इतना ही नही आफत बनकर बरस रही बारिश की वजह से जनजीवन बुरी तरह अस्त व्यस्त हो गया है..
बारिश का पानी बस्तियों के साथ कई स्कूलों में भी भरा गया है.. हालाकि राहत और बचाव कार्य के लिए बरसात के सीजन से पहले ही तैयार प्रशासनिक टीम और पुलिस अमवा प्रभावित स्थानों में पहुंच राहत और बचाव कार्य मे जुट गया है..

जिला प्रशासन की अपील..

जिले मे भारी बारिश से चलते बढ़ते जल स्तर को देखते हुए की प्रशासन ने बाढ या बारिश की वजह से किसी भी आपात स्थिति मे बाढ़ आपदा से निपटने के लिए बनाए गए कंट्रोल रूम के टेलीफोन नंबर 07723 223305 पर जानकारी देने की अपील की है..

24 घंटे मे बिगड सकते है हालात….

जिले मे लगातार बारिश के चलते गंगरेल, सिकासार, सोंढूर जलाशय से महानदी में लगातार पानी छोडा जा रहा है.. जिससे महानदी का जल स्तर काफी बढ गया है. इतना ही नही आने वाले 24 घंटों के भीतर महानदी का जल स्तर और ज्यादा बढ़ने के कयास लगाए जा रहें हैं. जिसको देखते हुए कलेक्टर हिमशिखर गुप्ता ने महानदी के किनारे बसे गांवो के ग्रामीणों से महानदी में मछली ना मारने , स्नान और अन्य कार्य ना करने की अपील की है.. जिसके लिए राजस्व अधिकारियों को प्रभावित इलाको मे तैनात कर दिया गया है और कोटवारों से अपील की लगातार मुनादी कराई जा रही है….

  • 9
    Shares