जूही चावला और उनके पति पर 8 लाख रुपए की ठगी के आरोप में FIR…

660
रांची
लालपुर थाने में बॉलीवुड एक्ट्रेस जूही चावला, उनके पति जय मेहता समेत आठ लोगों के खिलाफ ठगी के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई गई है। झारखंड के प्राइवेट स्कूलों के लिए एजुकेशनल प्रोग्राम तैयार करने वाली कंपनी आइक्यू लॉजिक इंडिया के संचालक जयेश सिन्हा ने यह एफआईआर करवाई है। जूही समेत अन्य आरोपियों पर आठ लाख रुपए की ठगी का आरोप है।
जयेश के मुताबिक मुंबई की कंपनी उबकुल फ्यूटेक के डायरेक्टर चौधरी एपी दास और मार्केटिंग हेड अपूर्वा ने उनसे 2013 में कॉन्टेक्ट किया था।
-स्कूलों में डिजिटल एजुकेशन के लिए दोनों ने फ्रेंचाइजी देने की बात कही थी। इस कंपनी के फाउंडर जय मेहता, जबकि जूही चावला ब्रांड पब्लिसिटी एंबेसडर हैं।
-इस दौरान जमशेदपुर और रांची में डिजिटल प्रोग्राम के लिए कुल 4 लाख और सिक्योरिटी मनी के तौर पर 4 लाख रुपए दिए गए। ये रुपए चेक के माध्यम से कंपनी के बैंक अकाउंट में जमा कराए गए थे।।
-पैसे लेने के बाद कंपनी के डायरेक्टर चौधरी अंबिका प्रसाद फ्रेंचाइजी देने के नाम पर टाल मटाेल करने लगे और अंत में 23 मार्च 2015 को रुपए वापस करने से साफ-साफ मना कर दिया।
डायरेक्टर और मार्केटिंग हेड ने किया था कॉन्टेक्ट
उबकुल फ्यूचर कंपनी की एडिशनल डायरेक्टर मालाबार हिल मुंबई निवासी जूही देशराज चावला, कंपनी के डायरेक्टर गोरे गांव मुंबई निवासी चौधरी अंबिका प्रसाद दास, डायरेक्टर जुहू तारा रोड मुंबई निवासी देवव्रत मिश्रा, मार्केटिंग हेड अपूर्वा महनोट, फाउंडर मेंबर डॉ. तपस्वनी साहू, जूही चावला व उनके पति जय मेहता पर 8 लाख रुपए लेने का आरोप है।
-जूही चावला की कंपनी के डायरेक्टर चौधरी अंबिका प्रसाद दास उनके पास रांची अपनी कंपनी के मार्केटिंग हेड अपूर्वा महनोट के साथ आए थे।
-दोनों ने रांची और जमशेदपुर के स्कूलों में डिजिटल एजुकेशन की फ्रेंचाइजी के लिए आइक्यू लॉजिक से करार किया।
-इस दौरान बताया गया कि जूही खुद कंपनी का प्रचार-प्रचार करती है। यह भी बताया गया कि जूही चावला रांची में तीन दिन तक रहकर उनके साथ स्कूलों में कैंपेन करेंगी। लेकिन जूही रांची नहीं आईं।
-इसी बीच कंपनी ने अपनी बेवसाइट बंद कर दी। इसके बाद जयेश ने कई बार आठ लाख रुपए की मांग आरोपियों से की। लेकिन उन्हें रुपए नहीं लौटाए गए।