Thursday , January 18 2018
Home / आध्यात्म / पूजा विधि (page 5)

पूजा विधि

पूजा विधि

गज केशरी शनि शक्ति धाम में मनाई गई शनि जयंती

दुर्ग  शहर के ”गज केशरी शनि शक्ति धाम” मंदिर में शनि जयंती के अवसर पर श्रद्धालुओं का ताँता लगा रहा,,इस अवसर में सुबह से ही पूजा पाठ प्रसाद  वितरण व भंडारे का भी आयोजन किया गया,,ऐसी मान्यता है की गज केशरी शनि देव के मंदिर में लोगो की मुरादे पूरी होती है यही कारण है की यह शनि देव का …

Read More »

नागा साधुओं की रहस्यमई दुनिया, जाने कैसे हैं उनके अखाड़े और रीति-रिवाज

कुंभ मेला जब भी लगता है साधू-संतों, विशेषकर नागा साधुओं की चर्चा सबसे ज्यादा होती है, क्योंकि साधुओं का यह वर्ग हमेशा एक रहस्य पैदा करता रहा है। ये सामान्य लोगों के लिए हमेशा कुतूहल का विषय हैं। उनके कामकाज अजरज भरे होते हैं। ये किस पल खुश हो जाएंगे और कब खफा ये कोई नहीं जानता। नागा साधुओं की …

Read More »

बजरंगबली के 5 थे अनुज, पूर्वजन्म में मां थी अप्सरा

भगवान श्रीराम के भक्त हनुमानजी उनके भाई की तरह हैं। इसके पीछे पौराणिक मत है। जिसका प्रमाण है गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित ‘श्रीरामचरितमानस’ में मिलता है। यह प्रमाण एक पौराणिक कथा के रूप में उल्लेखित है। इस बार में हम पहले आपको बता चुके हैं। आलेख पढ़ने के लिए क्लिक करें प्रभु श्रीराम हैं हनुमानजी के भाई यहां है प्रमाण। …

Read More »

गौतम बुद्ध के कुछ प्रमुख सूत्र

गौतम बुद्ध प्रज्ञा पुरुष थे। उन्होंने धर्म को पारंपरिक स्वरूप से मुक्त कराकर उसे ज्ञान की तलाश से जोड़ा। उन्होंने विवेक को धर्म के मूल में रखा और तमाम रुढ़ियों को खारिज किया। उन्होंने ज्ञान को सर्वोच्च महत्व दिया और उनके इन विचारों की प्रासंगिकता आज भी है। पुष्प की सुगंध वायु के विपरीत कभी नहीं जाती लेकिन मानव के …

Read More »

नवरात्र के व्रत में न खाएं ये चीजें, कर देंगी अनहेल्‍दी

नवरात्र में व्रत रखने से शरीर के पाचनतंत्र को आराम मिलता है और शरीर का शुद्धिकरण भी हो जाता है। लेकिन इन दिनों में खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए ताकि हम अपने शरीर को नुकसान देने वाली चीजों से बचा सकें। नवरात्र के दिनों में विशेषकर फूड पॉयजनिंग का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है। इसलिए इस समय में ज्यादा …

Read More »

मंत्र सहित श्रीशिव पूजन की विधि

भगवान शिव अत्यंत भोले व दयालु हैं। श्री शिव की पूजन जितनी आसान है उतनी ही फलदायी भी है। श्रद्धा के साथ श्री शिव पूजन करने से किसी वस्तु की कमी होने से भी श्री शिव नाराज नहीं होते हैं। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए किस तरह उनका पूजन करें, जानते हैं इसी बारे में.. सकंल्प पूजन शुरू​ …

Read More »

कार्तिक पूर्णिमा से कार्यरत होते हैं श्री विष्णु

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा कार्तिक पूर्णिमा कही जाती है। इस दिन यदि कृत्तिका नक्षत्र हो तो यह ‘महाकार्तिकी’ होती है, भरणी नक्षत्र होने पर विशेष रूप से फलदायी होती है और रोहिणी नक्षण होने पर इसका महत्व बहुत ही अधिक बढ़ जाता है। विष्णु भक्तों के लिए यह दिन इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इस दिन संध्याकाल में …

Read More »

चाहिए योग्य पुत्र तो बुधवार को करें शिव-कार्तिकेय का पूजन

सावन का महीना भगवान शंकर को विशेष प्रिय है। हमारे धर्म शास्त्रों में सावन को विशेष फलदाई बताया गया है। इस महीने में हर दिन भगवान शिव का विशेष तरीके से पूजन करने से मनचाहे फल की प्राप्ति होती है। अगर कोई भी इन पूजा विधियों का पूरी तरह से पालन करे तो भगवान शिव अति प्रसन्न होते हैं। धर्म …

Read More »

गणेशजी के 3 मंत्र, जो मात्र 7 दिन में बदल देंगे आपकी किस्मत

जब जीवन में हर तरफ दुख हो, संकट हो और निकलने का कोई मार्ग न दिखे तो गौरीपुत्र गजानन की आराधना तुरंत फल देती है। भगवान गणेश की सात्विक साधनाएं अत्यंत सरल तथा प्रभावी होती है। इनमें अधिक विधि-विधान की भी जरूरत नहीं होती केवल मन में भाव होने मात्र से ही गणेश अपने भक्त को हर संकट से बाहर …

Read More »

हिंदू धर्म में तिलक की महिमा

तिलक लगाना सात्विकता का प्रतीक है। कोई भी शुभकार्य करने से पहले तिलक लगाने की परंपरा सदियों से विद्यमान है। तिलक अमूमन हल्दी, कुमकुम, चंदन और रोली से लगाया जाता है। तिलक लगाने के बाद अक्षत यानी चावल लगाने की भी परंपरा है। तिलक लगाने के बाद चावल लगाने का भी प्रचलन है, अक्षत यानी चावल शांति का प्रतीक है। …

Read More »