Tuesday, June 19, 2018

इलाहाबाद का इतिहास…..

इतिहास इलाहाबाद के शहर उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े शहरों में से है और तीन नदियों गंगा , यमुना और अदृश्य सरस्वती के संगम पर...

झांसी का इतिहास

झांसी नदियों Pahunj और बेतवा के बीच स्थित झांसी शहर , बहादुरी , साहस और आत्म सम्मान का प्रतीक है . यह प्राचीन काल में...

सांस्कृतिक विरासत और इतिहास…

सांस्कृतिक विरासत भारतीय संस्कृति की सबसे प्राचीन पालने में से एक में उत्तर प्रदेश . यह हड़प्पा और मोहन - Jodaro कोई राज्य में पाया...

वाराणसी की महिला स्वतंत्रता सेनानियो का इतिहास

श्रीमती आनंदी देवी : - पिता `के नाम: श्री Surabh Kalwar , जन्म स्थान: वाराणसी . वह 1932 के दौरान " Savinay Avagya आंदोलन...

प्रकृति, वनस्पति और जीवो का उत्तरप्रदेश मे इतिहास

प्राकृतिक संपदा उत्तर प्रदेश बहुतायत में प्राकृतिक संपदा से संपन्न है. इस धन दक्षिण में उत्तर और विंध्य पर्वतमाला में हिमालय की बुलंद पर्वत श्रृंखला...

शुंग और कुषाण काल और मध्यप्रदेश

मौर्यों के पतन के बाद शुंग मगध के शासन हुए। सम्राट पुष्यमित्र शुंग विदिशा में थे। इनके पूर्वजों को अशोक पाटलिपुत्र ले गए थे।...

छत्तीसगढ़ी लोक कला की रक्षा करनी होगी.. प्रभा जोशी ने संस्कृति विभाग को दी...

रायपुर मध्यप्रदेश से अलग होकर बना छत्तीसगढ़ प्रदेश जो लोक कला और संकृति में अन्य प्रदेशो से कहीं आगे है.. लेकिन सरकार की अनदेखी...

रामनगर

  14 किमी. वाराणसी से, गंगा नदी रामनगर के विपरीत तट पर स्थित है. रामनगर में किले पुरानी कारों, रॉयल palkies, तलवार की एक शस्त्रागार...

पाषाण एंव ताम्रकाल के मध्यप्रदेश का इतिहास..

 सम्यता का दूसरा चरण पाषण एवं ताम्रकाल के रूप में विकसित हुआ है। नर्मदा की सुरम्य घाटी में ईसा से 2000 वर्ष पूर्व यह...

वाराणसी के स्वतंत्रता सेनानियों का इतिहास

भारत रतन डा. भगवान दास जी : - पिता `के नाम: श्री माधो दास जी , जन्म तिथि : 12 जनवरी 1869 , जन्म...