मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को खुली चुनौती दे रहे चित्रकूट के डकैत…..।

15037
सतना: के चित्रकूट में हुए उपचुनाव के दौरान सूबे के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने खुले मंच से यह ऐलान किया था, कि चित्रकूट से डकैतों का सफाया कर दूंगा, यही नही अपने भाषणों में कई बार उन्होंने कहा था कि, इस धरती में या तो शिवराज सिंह चौहान रहेगा या डकैत, उसके साथ ही पूरी तरह से दस्यू प्रभावित इस छेत्र चित्रकूट को डकैत मुक्त घोसित कर दिया था, पर चित्रकूट में बीते दिन हुई 3लोगों के अपहरण और परिवार से 50लाख की फिरौती की मांग से मामला बिगड़ गया है, रिटायर्ड वन विभाग के अधिकारी समेत 3लोगों के अपहरण की घटना से इलाके में एकबार फिर दहसत फैला गयी है, और दिनदहाड़े हुई यह घटना प्रदेश के मुखिया के साथ पुलिस प्रशासन के लिए खुली चुनौती बनकर सामने आई है।
जानिए क्या है पूरा मामला:- 
सतना चित्रकूट मार्ग स्थित बगदरा घाटी में बीते दिन मंगलबार को दिनदहाड़े हथियारबंद बदमाशों ने जमकर तांडव किया,, सड़क पर चल रहे वाहनो को रोका और लोगों से मारपीट कर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया,, इतना ही नही हथियार बंद डकैतों ने आल्टो कार सवार तीन लोगों को अगवा कर लिया और सड़क में काम कर रहे मजदूरो के साथ भी जमकर मारपीट की,, वही अपहरित रिटायर्ड वन अधिकारी और उनके दो साथियों का अभी तक पुलिस को कोई सुराग नही मिला,, इस बारदात पर बबली कोल गैंग के हार्डकोर मेंबर लवलेस कोल का हाँथ होना बताया जा रहा है,, और सूत्रों की माने तो अगवा लोगो की रिहाई के लिए 50 लाख रुपये की फिरौती की मांग की गयी है!
रामाश्रय पांडे

दरअसल सतना जिले के सतगुरु नेत्र चिकित्सालय से आँख का इलाज कराकर रीवा लौट रहे रिटायर्ड वन अधिकारी रामाश्रय पांडे सहित तीन लोगों को डकैतों ने अगवा कर लिया और अब सकुशल रिहाई के लिए 50लाख की फिरौती मांगी है,, अगवा तीनो लोग रीवा जिले के रहने वाले है,, जो अपने वाहन क्रमांक mp18 c 5667 आल्टो कार में सवार थे,, जब बगदरा घाटी में डकैत तांडव मचारहे थे, उसी दरमियान आल्टो सवार डकैतों के सामने से गुजरे और हथियार की नोक पर तीनों को अगवा कर लिया गया,,  इस घटना को एक लाख का इनामी डकैत लवलेस ने अंजाम दिया और अगवा परिवार को फोन कर 50लाख की फिरौती मांगी,, लवलेस कोल पांच लाख तीस हजार का इनामी डकैत बबली कोल का शार्प शूटर है,, हालही में बबली और लवलेस के वीच विबाद हुआ और दोनो अलग-अलग गैंग चला रहे,, लवलेस ने अपनी सात सदस्यीय गैंग के साथ इस घटना को अंजाम दिया है,, वहीँ घटना के बाद तराई में एक बार फिर दहसत फैला दी है !

क्या कर रही सतना पुलिस:- 
प्रदेश में चुनाव की घोषणा हो चुकी और डकैतों ने इस घटना को अंजाम देकर सरकार और पुलिस को चुनौती दे डाली,, हालांकि इस मामले में सतना पुलिस ने अभीतक कोई बयान जारी नहीं किया गया है,, सतना पुलिस कप्तान ने एक दिन बाद बमुश्किल घटना की केवल पुष्टी की है,, पुलिस की अलग अलग टीम जंगल में सर्चिंग आप्रेशन कर रही लेकिन पुलिस के हाँथ हाँथ अभी-भी खली है,, आईजी रीवा चित्रकूट के जंगलों में कैम्प कर रहे,, वही पीड़ित परिवार भी दहसत में है और कुछ बोलने को तैयार नही !
  • 74
    Shares