ऐसे मे शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव करा पाना संभव है क्या ? अब दर्जनभर भाजपा नेता हैं हिटलिस्ट में..

10329

बीजापुर.. एक ओर जहाँ प्रदेश में विधानसभा चुनाव की चुनावी सरगर्मियां तेज हो चली है..तो वही दूसरी ओर बस्तर में चुनाव में खलल डालने की रणनीति माओवादी बनाने लगे है..इसकी पुष्टि उस दौरान हुई जब माओवादी राज्य के गणपर्व का बैनर लगाकर और पर्चे फेककर बहिष्कार करने की चेतावनी दे रहे है…

दरसल आज सुबह सुरक्षा बलों ने सर्चिंग के दौरान जिले के पेगड़ापल्ली से गोरला के बीच माओवादियों द्वारा भारी मात्रा में फैंके गए पर्चे और बैनर बरामद किए है..उक्त मार्ग पर मिले इन बैनर पोस्टरों से साफ तौर पर जाहिर हो रहा है की माओवादियों की आमद -रफ्त इस इलाके में बढ़ गई है..जिससे राहगीरों में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है..

वही मद्देड़ पुलिस ने मौके पर पहुँचकर उक्त माओवादियों के पर्चो और बैनरों को जप्त कर लिया है..

बता दे की बस्तर संभाग की 12 विधानसभा सीटे सूबे में सत्ता में निर्णायक की अहम भूमिका अदा करती है..और ऐसा कोई भी चुनाव नही है..जिसका माओवादी विरोध ना करते हो..मद्देड़ थाना क्षेत्र में मिले इन बैनर और पर्चो में चुनाव बहिष्कार की बाते तो अंकित है ही..इसके साथ माओवाद प्रभावित बस्तर के भाजपा नेता भी माओवादियों के निशाने पर है..ऐसे में निर्वाचन आयोग के लिए बस्तर के बीहड़ और वनांचल इलाको में सफलता पूर्वक निर्वाचन करा पाना मिल का पत्थर साबित होगा..

  • 16
    Shares