पहले कभी पीड़ा का दंश झेल रहा था यह जिला..पर अब ऐसा नही होने दिया जाएगा..और अगर ऐसा हुआ तो हम क्यो है?..

1936

कवर्धा..(कृष्णमोहन कुमार) उपेक्षा का पीड़ा झेल चुके इस जिले का नाम गौरव और सम्मान के साथ लिया जाता है!..यह कोई अतिश्योक्ति नही बल्कि गौरव का का विषय..यह कहना था जिले के मूल निवासी डॉक्टर रमन का जो आज देश मे छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व कर रहे है..और क्षेत्र के लोगो के रोल मॉडल बन चुके है…

दरसल मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन आज अटल विकास यात्रा के तहत जिले के पिपरिया पहुँचे थे..जहाँ उन्होंने 116करोड़ 40 लाख 27 हजार के 43 विभिन्न कार्यो का शिलान्यास और भूमिपूजन किया..वही मुख्यमंत्री ने क्षेत्र की जनता को आश्वस्त किया क़ी उन्हें रेल की सुविधाओं से वंचिन्त नही रहने दिया जाएगा..वे विकासशील से विकसित होने की दिशा में कदम रख रहे है..

दरसल मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन आज अटल विकास यात्रा के तहत अपने गृह जिले कवर्धा के पिपरिया पहुँचे थे.. वे यहाँ किसान सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे..मुख्यमंत्री इस सभा को सम्बोधित करते हुए कई मौकों पर भावुक हो उठे..उन्होंने ने कृषि प्रधान देश की परिभाषा को लोगो के समक्ष रखा ..इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने लोगो को आश्वस्त किया की उन्हें धान के अलावा दलहन-तिलहन के फसल लेंड पर भी प्रदेश सरकार मदद करेगी..जिसे समर्थन मूल्य पर बेचने की व्यवस्था सरकार बनाएगी..
इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा की जो सपना जिलावासी आज देखते आये है..वह पूरा होगा अर्थात जिले में लौह पथ गामिनी का विस्तार (रेल लाइन) होगा..मुख्यमंत्री ने सार्वजनिक मंच से कहा क़ी पिपरिया को तहसील के दर्जा दिया जाएगा.

  • 3
    Shares