नहीं उतरने देंगे सीएम का उड़नखटोला,, जातिगत राजनीति के विरोध में उतरा सर्व समाज !

20724
सतना:18 सितंबर को सीएम शिवराज के सतना दौरे को लेकर जबरजस्त विरोध के स्वर गूंजने लगे है,, पहले सवर्ण अब सर्व समाज के लोग भी मैदान में उत्तर आये है,, सतना में 18 तारिख को सीएम पिछड़ा वर्ग महाकुम्भ सम्मेलन में सामिल होने आरहे,, सूबे के मुखिया शिवराज सिंह का सर्व समाज जनसैलाव के साथ विरोध की तैयारी में है,, खबर यह भी है कि ना सिर्फ सीएम के दौरे का विरोध बल्कि सीएम का उड़न खटोला भी सतना में उतरने से रोकने का प्रयास किया जाएगा,, यही नही स्थानी सतना सांसद गणेश सिंह के बंगले का भी 16 सितंबर को घेराव करने का निर्णय लिया गया है,, यह विरोध SC/ST एक्ट मे किये गए संसोधन के कारण किया जारहा है,, बताया जा रहा की सरकार जातिगत राजनीति पर उतारू है,, जो समाज को बनाने नहीं बल्कि बाँटने का काम कर रही,, यह किसी भी लिहाज से सही नहीं ठहराया जा सकता !
क्या है विरोध की वजह:-
केंद्र सरकार द्वारा एट्रोसिटी एक्ट लाने के बाद पूरे देश में जबरदस्त विरोध देखने को मिला,, वही इस विरोध की आग अभी ठंडी होती नहीं दिखाई दे रही,, 6 सितंबर के भारत बंद किया गया,, बंद का सतना में व्यापक असर देखने को मिला था,, जिसे देखते हुए CM शिवराज सिंह चौहान को10 सितंबर का सतना दौरा निरस्त करना पड़ गया,, जानकारी के मुताबिक 18 सितंबर को सीएम शिवराज सिंह चौहान सतना आ रहे हैं,, जहां सतना एरोड्रम के पास में आयोजित पिछड़ा वर्ग महाकुम्भ सम्मेलन में शामिल होंगे,, जिसे लेकर सवर्ण समाज विरोध में है,, इस विरोध को देखते हुए अब सर्व समाज के लोग भी मैदान में उतर आए हैं,, जिनका मामना है की  भाजपा जातिगत राजनीति करके समाज को बाँटने का काम कर रही,, यही नहीं एसटी-एससी एक्ट में हुए संशोधन का भी खुलकर विरोध करने लगे है,, कहना है कि इस एक्ट में संशोधन के बाद पूरे देश में भय का माहौल हो गया है,, हर कोई इस एक्ट के चलते खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है,, विरोध कर्ताओं की माने तो एससी एसटी एक्ट का पुरजोर तरीके से दुरुपयोग शुरू हो गया है,, जिसके चलते हालही में सतना सुहावल जनपद सीईओ वन विभाग के डीएफओ और उचेहरा रेंज के रेंजर पर एसटी एससी एक्ट के तहत शिकायत दर्ज कराई गई है।
सतना सांसद भी घेरे में:- 
सतना के साई गार्डन में प्रेस वार्ता करते हुए सर्व समाज के लोगों ने बताया की CM के कार्यक्रम के विरोध के साथ-साथ सतना सांसद को भी नहीं छोड़ा जायेगा,, जिसमें सतना सांसद गणेश सिंह के बंगले पर 16 सितम्बर की दोपहर चढ़ाई की जाएगी,, बताया जा रहा है की इस घेराव में भारी संख्या में सवर्ण समाज के लोग और समर्थन में अन्य समाज के लोग भी शामिल रहेंगे जिनका कहना है की सरकार जातिगत राजनीति में उतर आयी है जो किसी भी लिहाज से समाज के लिए ठीक नहीं यह जातिगत राजनीति समाज को गर्त में लेजारहि और सतना सांसद ऐसे आयोजन करके अन्य जातियों से किनारा करने का काम कर रहे,, जबकि उन्हें सांसद किसी एक जाती ने नहीं बल्कि सतना की हर जाती धर्म की जनता में बोत देकर जिताया था,, सतना सांसद पर भी जातिगत राजनीति करने का आरोप लगाया गया है,, यही वजह है की 16 सितम्बर को उनके बंगले का घेराव करके जबरजस्त विरोध दर्जा कराया जायेगा !
  • 595
    Shares