वामपंथी दलों ने किया 10 सितंबर को भारत बंद का ऐलान..मोदी सरकार के वादा खिलाफी के विरोध में उतरे वामपंथी दल…

1364

भोपाल.. मध्यप्रदेश में भी 10 सितंबर को भारत बंद को सफल बनाने का आह्वान वामपंथी पार्टियों ने किया है..मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने इस सम्बंध में एक प्रेस नोट जारी कर केंद्र में मोदी सरकार के चार साल के कार्यकाल में बढ़ रही महंगाई के विरोध में भारत बंद का ऐलान किया है…

मार्क्सवादी पार्टी के प्रदेश सचिव जसविंदर सिंह,भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सहसचिव रुपसिंह चौहान, एसयूसीआई(सी) के सचिव प्रताप सामल, सीपीआई(एमएल) के देवेन्द्र सिंह चौहान ने सयुंक्त रूप से एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है.. कि मोदी सरकार के चार साल के कार्यकाल में महंगाई अपने चरम पर है.. देश की जनता पर लगातार बढ़ रही पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों ने आमलोगों के जीवन को खासा प्रभावित किया है.. यही नही कर्ज में डूबे किसान आत्महत्या कर रहे है..तथा डालर की तुलना में रुपए की कीमत लगातार गिर रही है.. और इस चौतरफा मार के खिलाफ देशव्यापी संघर्ष के अलगे चरण के रुप में 10 सितम्बर को बंद का आह्वान किया गया है..

वही वामपंथी नेताओं का कहना है की सरकार स्वामीनाथन आयोग के अनुरुप किसानों को लागत का डेढ़ गुना दाम देने..कर्ज से मुक्त करने.. बेरोजगारी दूर कर युवाओं को रोजगार देने के अपने चुनावी वायदों को पूरा करने में विफल रही है.. सरकार किसानों को कर्ज मुक्त करने की बजाय कारपोरेट घराने के कर्ज माफ कर रही है..तथा कालाधन वापस लाने की बजाय नोटबंदी कर मोदी सरकार ने कालेधन को ही सफेद करने का काम किया है..और राफेल घोटाले से मोदी सरकार की राष्ट्रभक्ति बेनकाब हो गई है..

वामपंथी नेताओं ने कहा कि इन नीतियों के साथ ही प्रदेश में भी भाजपा के 15 साल के राज में व्यापमं में पूरी पीढ़ी का भविष्य बर्बाद हुआ है। भ्रष्टाचार चरम पर है। इन सब मुद्दों को भी 10 सितम्बर के अभियान में जोड़ा जाएगा..वामपंथी दलों ने प्रदेश भर में अपनी इकाईयों को 10 सितम्बर के भारत बंद को सफल बनाने के आह्वान के साथ ही प्रदेश की जनता से भी बंद को सफल बनाने की अपील की है..

  • 13
    Shares