जैन मुनि तरूण सागर का निधन.. पीलिया से ग्रसित थे जैन मुनि..

1980

 दिल्ली..जैन धर्म के अनुयायी तरुण सागर जी महाराज का आज सुबह सवा तीन बजे निधन हो गया..वे पिछले कुछ समय से अस्वस्थ थे..वे पीलिया से ग्रसित थे..और उन्हें मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था..तरुण सागर की देखरेख ब्रह्चारी सतीश कर रहे थे..

बता दे की मुनि श्री तरुण सागर जी अपने अनुयायियों के साथ दिल्ली मे स्थित कृष्णा नगर के जैन मंदिर गए थे..और 1 सितंबर की सुबह सवा तीन बजे उन्होंने अंतिम सांस ली..मुनि तरुण सागर का अंतिम संस्कार आज दोपहर तीन बजे किया जाएगा..
मुनिश्री तरुण सागर जी मूलतः मध्यप्रदेश के दमोह जिले के ग्राम गुहजी के निवासी थे..उनका नाम पवन कुमार जैन था..उनका जन्म 26 जून 1967 को हुआ था..उनकी माँ का नाम शांति देवी और पिता का नाम प्रताप चन्द्र था..
मुनि श्री तरुण सागर ने 8 मार्च 1981 को घर छोड़ दिया था..और उन्होंने छत्तीसगढ़ में दीक्षा ली थी..
अपने कड़वे प्रवचनों के लिए तरुण सागर जी खास तौर पर जाने जाते थे..

  • 10
    Shares