इलाज के अभाव में हुई पहाड़ी कोरवा छात्रा की मौत..SDM पहुँचे मौके पर..

7898

अम्बिकापुर…(सीतापुर:अनिल उपाध्याय) पिछले दिनों अज्ञात कारणों से एक 14 वर्षीय पहाड़ी कोरवा छात्रा की मौत हो गई थी..और मौत से पूर्व छात्रा दो बच्चों के साथ पाँच दिनों से घर मे अकेली थी उसके पिता उसकी बीमार माँ का इलाज कराने अम्बिकापुर गये हुये थे..तथा जिस दिन इलाज कराकर दोनो वापस अपने घर आये उसी दिन छात्रा ने उन्हें शरीर मे अकड़न एवं गले मे दर्द की परेशानी बताई और दूसरे दिन इलाज के अभाव में उसने दम तोड़ दिया..दो दिनों बाद इस मौत की खबर मिलते ही सबसे पहले एस डी एम अतुल सेटे उल्टी दस्त की आशंका से संजीवनी 108 लेकर वहाँ पहुँचे पीछे से चिकित्सको का दल भी वहाँ आ पहुँचा और घर के लोगो का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया ..परीक्षण के दौरान मृत छात्रा की माँ एनीमिया की मरीज निकली जिसकी वजह से उसकी हालत खराब थी उसकी हालत देख एस डी एम ने उसे एवं उसके पति और दो बच्चों को एम्बुलेंस से मेडिकल काँलेज अम्बिकापुर भिजवाया और पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराई ताकि विषम परिस्थिति में उनके काम आ सके..

मिली जानकारी अनुसार विकास खँड बतौली के ग्राम गोविंदपुर के पहुँचविहीन क्षेत्र तराईडाँड़ में पहाड़ी कोरवा किशुन राम की 14 वर्षीया बेटी फूलमती की अज्ञात कारणों से 28 जुलाई को मौत हो गई..मौत से पूर्व वह दो बच्चों के साथ पाँच दिनों तक अपने घर मे अकेली थी उसके पिता 22 जुलाई को उसकी बीमार माँ सगनी बाई 40 वर्ष का इलाज कराने सीतापुर गये हुये थे जहाँ एनीमिया की वजह से उसकी माँ की हालत गम्भीर देख चिकित्सको ने उसे खून चढ़ाने हेतु 24 जुलाई को मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया था जहाँ से उपचार करा दोनो 27 जुलाई को जैसे ही अपने घर वापस आये उनकी बेटी ने शरीर मे अकड़न और गले मे दर्द की शिकायत बताई और इलाज से पूर्व ही उसने 28 जुलाई को दम तोड़ दिया। अगले दिन परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया जिससे ये पता नही चल पाया कि आखिर उसकी मौत किन कारणों से हुई थी।

सूचना के बाद सबसे पहले गाँव पहुँचे एस डी एम:-दो दिनों बाद जब इस घटना की जानकारी पता चली तो वहाँ सबसे पहले पहुँचने वाले अधिकारी एस डी एम अतुल सेटे थे।वहाँ पहुँचने से पूर्व उन्होंने उल्टी दस्त की शंका पर बी एम ओ बतौली सहित सीतापुर एवं बतौली क्षेत्र के संजीवनी एम्बुलेंस 108 को फोन किया किन्तु खराब होने के कारण उन्होंने अम्बिकापुर से 108 बुलवाया।इनके पहुँचने के बाद चिकित्सक वहाँ पहुँचे और उस घर के लोगो का स्वास्थ्य परीक्षण किया परीक्षण के दौरान सगनी एनीमिया की मरीज निकली जिसकी वजह से उसकी तबियत बिगड़ते जा रही थी उसकी हालत देख उसे 108 के सहयोग से मेडिकल कॉलेज भेजा गया इस दौरान एस डी एम ने पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराया।पहाड़ी कोरवा छात्रा की मौत के संबंध में एस डी एम ने बताया कि उसकी मौत उल्टी दस्त की वजह से नही हुई है पूरा परिवार एनीमिया से ग्रसित है छात्रा ने भी मृत्यु से पूर्व अपने घरवालों को अकड़न एवं गले मे दर्द की परेशानी बताई थी।सम्भवतः छात्रा की मौत भी एनीमिया जैसी बीमारी की वजह से हुई होगी।

  • 20
    Shares