वीडियो : पुलिस नहीं रोक पा रही है अवैध शराब का व्यापार.. सरकारी शराब दुकान से हो रही शराब तस्करी का शराबियों ने ही किया खुलासा…

12210

अम्बिकापुर : कौन कहता है छत्तीसगढ़ मे सरकारी शराब दुकान खुलने या सरकारी ठेका होने से अवैध शराब की बिक्री रूक गई है.. वो अलग बात है कि पुलिस इसे इसलिए अनदेखा कर रही है क्योंकि सरकारी ठेका होने के बाद पुलिस की अवैध कमाई कम हो गई थी.. दरअसल अम्बिकापुर मे अवैध शराब का कारोबार धडल्ले से हो रहा है.. इस बात का खुलासा जिस पुलिस को करना चाहिए उसने नहीं बल्कि उन शराबियों ने किया है.. जिनको शराब दुकान मे शराब नहीं मिली और शराब का अवैध कारोबार करने वाले कोचिए को बिक्री के लिए एक झोला अवैध शराब मिल गई… पूरा मामला अम्बिकापुर के भगवानपुर शराब दुकान के सामने का है.. जिसका वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया मे जमकर वायरल हो रहा है…

जानकारी के मुताबिक वायरल वीडियो मे जो शख्स दिख रहा है वो भगवानपुर इलाके का रहने वाला है और बनारस रोड मे रहने वाले शराब कोचिए किशोर घोष के लिए कोरियर बाय की तरह शहर के भगवानपुर स्थित शराब दुकान आया था.. इसी दौरान कुछ शराबी युवक भी शराब लेने वहां पहुंचे थे.. लेकिन युवको को शराब नहीं मिली.. पर कोचिया बैक डोर से शराब का बैग भर के निकलने की फिराक मे था.. लेकिन तभी शराब लेने आए उक्त युवको ने किशोर नाम के शराब कोचिए के आदमी को रूका कर उसका बैग खुलवाया तो बैग के अंदर तीन दर्जन से अधिक शराब का जखीरा पाया .. जिसके बाद युवको ने उससे पूछा शराब किसकी है.. तो उसने बंधन इन होटल के सामने रहने वाले किशोर नाम के शख्स के लिए शराब ले जाने की बात कही..

बहरहाल हैरानी की बात है, कि जिस बंधन इन के सामने रहने वाले कोचिए की बात हो रही है.. वो बंधन इन होटल गांधीनगर थाने से चंद कदमो की दूरी है.. उसके बाद भी गांधीनगर पुलिस को कथित रूप से इसकी कोई जानकारी नहीं है.. और सरकारी दुकान मे शराब बेचने वाले ने कहा मै तो अभी आया हूं.. ये मामला पहले का होगा… मतलब, पुष्टी इसने भी कर दी…

वैसे जानकारी ये है कि शराब का अवैध कारोबार गांधीनगर की जानकारी मे चल रहा है.. क्योकि कोचिए के आदमी का ये वीडियों है ..उस किशोर नाम के कोचिए के यहां बंदी के एक दिन मे गांधीनगर पुलिस ने छापा मारकर रंगे हाथों शराब, बेचते पकडा था.. उसके बाद से ही शराब कोचिए और पुलिस के बीच जेबभरूआ सेटिंग हुई थी… और आलम ये है, कि रोजाना केवल एक कोचिए को तीन दर्जन से अधिक शराब बैक डोर से मिल रही है.. मतलब अंदाजा लगाया जा सकता है, कि जब एक सरकारी दुकान से एक शराब कोचिया इतनी शराब ले, जाकर अवैध बिक्री कर रहा है तो फिर शहर की तीन दुकान से कितनी शराब ब्लैक हो रही होगी…..

देखे वीडियो..

  • 24
    Shares