Exclusive…क से कलम की जगह झ से झाडू पकडाना ज्यादा उचित समझा …और आलम ये है कि…. स्कूल के प्रधान पाठक ने स्कूल की दीवार मे नोटिस चस्पा दी….

5115

जांजगीर चांपा . (संजय यादव) जिले के एक शासकीय स्कूल मे स्वीपर की पोस्टिंग ना होने का खामियाजा मासूम स्कूली बच्चो उठाना पड रहा है.. स्कूल प्रबंधन ने बच्चों के हाथो मे क से कलम की जगह झ से झाडू पकडाना ज्यादा उचित समझा और आलम ये है कि स्कूल के प्रधान पाठक ने बच्चों से झाडू लगवाने के लिए स्कूल की दीवार मे बकायदा एक नोटिस चस्पा की है… जिसमे ये निर्धारित किया गया है कि बच्चे कब झाडू लगाएगें..

ये पूरा मामला जिले के सक्ति के सरकेली खुर्द शासकी य प्राथमिक शाला का.. जहां पर मासूम स्कूली बच्चों से झाड़ू लगवाने के लिए नया नियम बनाया गया है.. इस नियम के मुताबिक स्कूल की दीवार पर पर प्रधान पाठक ने एक ड्यूटी चार्ट चस्पा करवाया है.. जिसमे कौन बच्चा किस दिन स्कूल और कैंपस मे झाडू लगाएगा इसका उल्लेख किया गया है.. आम तौर पर जहां शिक्षा विभाग अपने शिक्षकों या कर्मचारियो के लिए ड्यूटी चार्ट बनाता है.. तो वही खुद ड्यूटी मे मनमानी करने वाले शिक्षक उन मासूम बच्चों से झाडू लगवाने का चार्ट तैयार कर रहे है.. जिनका भविष्य गढने की उन्हे जिम्मेदारी मिली है..
मैं अभी जांजगीर निर्वाचन की मीटिंग में हूँ । मीटिंग के बाद जानकारी लेता हूँ।
हिराधर , शिक्षा अधिकारी ,सक्ति

  • 5
    Shares