सूर्या कॉलेज ऑफ नर्सिंग में जीएनएम स्टूडेंट्स से फीस के नाम पर लूट ….परिजनों ने किया हंगामा, पहुंची पुलिस, मांगी 2 दिन की मोहलत….

3971

इंटर्नशिप के नाम पर मांग रहे थे 30-35 हजार रुपए
जांजगीर-चाम्पा. जांजगीर शहर के अकलतरा रोड स्थित सूर्या कॉलेज ऑफ नर्सिंग इंस्टिट्यूट में पढ़ रहे जीएनएम स्टूडेंट से फीस के नाम पर जमकर लूट हो रही है। प्रबंधन की मनमानी से त्रस्त स्टूडेंट्स के परिजनों ने बुधवार को दर्जनभर से अधिक संख्या में एक साथ इंस्टीट्यूट पहुंचे और जमकर हंगामा किया। मामले की जानकारी मिलते ही कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर से बात कर मामले की छानबीन की। पुलिस को देख डायरेक्टर ने मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की और कहा कि उन्हें 2 दिन का समय दिया जाए, वह सभी समस्या दूर कर देंगे।
आपको बता दें कि सूर्या कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग में लगभग 35 छात्राएं जीएनएम का कोर्स करने के बाद अंतिम वर्ष की परीक्षा दे चुकी हैं। इसके बाद नियम के मुताबिक इन छात्राओं को 6 महीने का इंटर्नशिप कोर्स करना होता है। यह कोर्स संबंधित संस्थान एक निर्धारित फीस अदा करके शासकीय चिकित्सालय या फिर निजी चिकित्सालयों में कराता है। इसके बाद जैसे ही छात्राओं को 6 महीने का इंटर्नशिप का प्रमाण पत्र मिल जाता है वह अलग-अलग संस्थानों में नौकरी नौकरी पाने की पात्र हो जाती हैं। संस्थान ने इन 35 छात्राओं का कोर्स तो करा दिया लेकिन जब इंटर्नशिप की बारी आई तो इधर-उधर घुमाने लगे। छात्राओं ने जब दूसरे नर्सिंग कॉलेज ऑफ इंस्टिट्यूट में पता किया तो पता चला कि वहां की छात्राओं को इंटर्नशिप कराया जा रहा है और जल्द ही वह कोर्स पूरा हो जाएगा। इससे नाराज छात्राओं ने जब डायरेक्टर से बात की तो उन्होंने पहले तो उन्होंने बतौर इंटर्नशिप 5000 फीस मांगी और जब छात्रों ने उसे दे दिया तो ₹30000 रुपए की और मांग की। इससे नाराज छात्राओं ने वहां काफी हंगामा किया और अपने परिजनों को यह बात बताई। देखते ही देखते बुधवार दोपहर लगभग एक दर्जन से अधिक परिजन कॉलेज पहुंचे और प्रबंधन के खिलाफ जमकर हंगामा किया। इसके बाद इस मामले की शिकायत पुलिस में की गई कोतवाली थाने से एक एएसआई और महिला सिपाही कॉलेज पहुंचे और मामले के बारे में पड़ताल की। पुलिस की दखल देखते ही प्रबंधन ऐसे सभी आरोपों से इनकार करने लगा और 2 दिन में मामले का निपटारा करने की बात कही। उधर परिजनों का कहना है कि अगर दो के भीतर प्रबंधन ने इस समस्या का हल नहीं निकाला और बिना मनमानी फीस लिए उनकी बच्चियों को इंटर्नशिप नहीं कराई तो वह प्रबंधन की ईंट से ईंट बजा देंगे। परिजनों का कहना है कि कॉलेज ऑफ नर्सिंग इंस्टिट्यूट में पहले भी अलग-अलग एक्टिविटी के नाम पर मनमाने तरीके से फीस ली गई है मजबूरी में छात्राएं दे भी रही थीं, लेकिन अब जो फीस मांगी जा रही है वह देना छात्राओं के परिजनों के बस में नहीं है। छात्राओं का कहना है कि यदि उन्हें इंटर्नशिप नहीं कराई गई और उसका प्रमाण पत्र नहीं मिला तो वह इसकी शिकायत शासन से करेंगी।

  • 17
    Shares