हॉस्टल मे उल्टी दस्त से बिगडी बालिकाओं की हालत.. तो अस्पताल पहुंची कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश.. और डाक्टर होने के नाते खुद भी टटोली बालिकाओं की नब्ज

4081
जशपुरनगर कलेक्टर डाॅ. प्रियंका शुक्ला ने जिला चिकित्सालय में भर्ती घोलेंग बालिका छात्रावास की 15 छात्राओं से मंगलवार की सुबह मुलाकात की। डाॅ. शुक्ला ने अस्पताल में उपस्थित डाॅक्टरों को छात्राओं पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। साथ ही उन्हांेने घोलेंग के बालिका छात्रावास में पानी की जांच के लिए आदिम जाति विभाग के सहायक आयुक्त श्री सन्तोष वाहने, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. राज लल्लन तिवारी, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एन. कुजूर और पीएचई विभाग के अधिकारी श्री संजीव शुक्ला सहित 4 अधिकारियों की टीम गठित करने के निर्देश दिए है। मंगलवार सुबह छात्राओं से मिलने पहुंची कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय का दौरा किया एवं अन्य मरीजों से भी बात की।
कलेक्टर डाॅ. शुक्ला ने घोलेंग के छात्रावास में अस्थायी स्वास्थ्य कैंप लगा कर अन्य छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण करने एवं आवश्यक दवाई वितरित करने के भी निर्देश दिए। डाॅ.शुक्ला ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए जिले के सभी छात्रावासों में हैंडपम्प के आस पास स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा सभी स्कूलों एवं छात्रावासों में पेयजल की जांच करने एवं समय-समय पर स्वास्थ्य शिविर लगाकर छात्र-छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश भी पीएचई एवं चिकित्सा अधिकारी को दिए है।
गौरतलब है कि घोंलेंग छात्रावास में रहने वाली कुछ छात्राए कल रात अचानक पेट दर्द के बाद उल्टी दस्त की शिकार हो गई थी। स्कूल प्रबंधन ने इन छात्राओं को सोमवार को देर रात ही उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती करा दिया। जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ डाॅक्टर ने बताया कि इलाज उपरांत सभी बालिकाओं की स्थिति में तेजी से सुधार हुआ है।
  • 3
    Shares