शिक्षा , शिक्षा व्यवस्था और बच्चो की पढाई को लेकर बेहद गंभीर हैं ये आईएएस अधिकारी

9702

अम्बिकापुर सबको पता है कि सरगुजा ने इस बार बोर्ड परीक्षाओं के नतीजों मे प्रदेश मे अपनी धाक जमाई थी.. अपने शानदार रिजल्ट की वजह से सरगुजा जिले ने प्रदेश मे दूसरा स्थान पाने का गौरव हासिल किया था.. और यही भी सब जानते है कि शिक्षा व्यवस्था को बलशाली बनाने के लिए मजबूत प्रशासनिक कमांड चाहिए.. जिसको सरगुजा कलेक्टर ने भलिभांति निभायाा.. ऐसा नहीं है, कि केवल सरगुजा कलेक्टर रहते हुए कलेक्टर किरण कौशल ने शिक्षा प्रणाली को मजबूत किया है ब्लिक इससे पहले मुंगेली कलेक्टर रहते हुए भी श्रीमती कौशल ने वहां की लचर शिक्षा विभाग का सिकंजा कसा था और दो साल पहले मुंगेली ने भी परीक्षा परिणामों मे प्रदेश मे अव्लल दर्जा प्राप्त किया था.. इधर सरगुजा जिले के कलेक्टर रहते हुए श्रीमती कौशल जबजब जिले के किसी भी ब्लाक या गांव के शासकीय दौरे पर होती है.. तो स्कूल मे गए बिना नहीं रहती हैं… और शायद यही वजह थी कि मैनपाट के हाथी प्रभावित बरिमा मे लोगों से मिलने के बाद कलेक्टर किरण कौशल ने स्कूली से मुलाकात करना नहीं भूली..

विद्यालय का निरीक्षण
कलेक्टर श्रीमती किरण कौषल द्वारा आज प्राथमिक शाला बरडांड़ का आकस्मिक निरीक्षण करते हुए विद्यार्थियों से सामान्य ज्ञान की जानकारी पूछी गई। उन्होंने बच्चों को सही-सही उच्चारण कर पुस्तक पढ़ने के लिए कहा। कलेक्टर ने षिक्षकों को विद्यालय में विद्यार्थियों की शत्-प्रतिषत उपस्थिति सुनिष्चित करते हुए नियमित अध्यापन करने निर्देषित किया। उन्होंने कहा कि बच्चों को साफ-सफाई के महत्व के बारे में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दें तथा विद्यालय परिसर को भी स्वच्छ रखें।

  • 3
    Shares