आंगनबाड़ी और स्कूल बंद मिलने पर होगी बड़ी कार्यवाही..कलेक्टर!..

5357

कवर्धा कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने शिक्षा सत्र प्रारंभ होते ही शिक्षा गुणवत्ता अभियान के तहत जिले में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों और स्कूलों में कसावट करना शुरू कर दिया है। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने आज समय सीमा की बैठक में आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा स्कूलों में की शिक्षा, अध्यापन कार्यों में गुणात्मक सुधार लाने के निर्देश दिए है। उन्होने सभी अनुविभागीय अधिकारियों को आंगनबाड़ी केन्द्रों और स्कूलों का सतत निरीक्षण करने के निर्देश दिए है। उन्होने यह भी कहा कि स्कूलों में नव प्रवेशी बच्चों का दर्ज संख्या की जांच करने के भी निर्देश दिए है। उसी प्रकार आंगनबाड़ी केन्द्रों का भी दाखिल-खारीज रजिस्टर की जांच करने के निर्देश दिए है। उन्होने कहा कि नए शिक्षा सत्र में आंगनबाड़ी केन्द्रों से कितने बच्चों का प्राथमिक स्कूलों में दाखिला हुआ है इसका विशेष जांच करें। शिक्षा के अधिकार के तहत गांव को कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित ना हो इसका विशेष ध्यान रखे। आंगनबाड़ी केद्रों का निरीक्षण के दौरान महिला एंव बाल विकास विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की क्रियान्वयन की भी भी जांच करें। निर्धारित समय पर आंगनबाड़ी और स्कूल खुल रहा है कि नहीं अथवा बच्चों के साथ-साथ आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं और शिक्षक नियमित रूप से स्कूल की उनकी उपस्थिति हो रही है कि नहीं यह भी जांच करे। अगर निर्धारित समय पर आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित नहीं हो रहा है तो इसकी जवाबदेही तय करें और संबंधित कार्यकर्ताओं और सेक्टर सुपर वाईजरों पर कार्यवाही भी सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने इसके अलाव अनुविभागीय अधिकारियों को ग्रांम पंचायतों में संचालित उचित मूल्य दुकानों, खाद्बीच गोदामों का भी सतत निरीक्षण करने के निर्देश दिए है। उन्होने यह भी कहा कि किसानों को खाद-बीच सुचारू रूप से वितरण हो यह भी सुनिश्चित करें।

कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने समय सीमा की बैठक में निराकृत किये जाने वाले प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने सुगम्य भारत योजना के तहत जिले के सभी सरकारी भवनों में दिव्यांगजनों के लिए बाधारहित (रैम्प) बनाने, प्राकृतिक आपदा होने पर आरबीसी 6-4 के तहत तत्काल सहायता राशि मंजूर करने, पुलिस लाईन कवर्धा में आंगनबाड़ी केन्द्र खोलने के लिए सर्वे कर शीघ्र प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिए।

कलेक्टर शरण ने कहा कि खेती किसानी का काम शुरू हो गया है। किसानों की मांग पर खाद, बीज, बीमा राशि, कृषि ऋण, विद्युत कनेक्शन आदि का तत्काल कार्रवाई कर किसानों को लाभान्वित करें। उन्होंने मौसमी एवं जल-जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए ब्लॉक स्तरीय स्वास्थ्य अमले को सतर्क रहने तथा आंगनबाड़ी केन्द्रों में अनुपस्थित रहने वाली कार्यकर्ताओं के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई करने के भी निर्देश दिये। बैठक में श्रम विभाग की योजनाओं के तहत पात्रता रखने वाली महिलाओं को सायकल एवं सिलाई मशीन वितरित करने, विशेष पिछड़ी जनजाति समूह के शत-प्रतिशत परिवारों को राशन कार्ड जारी करने, पात्रता रखने वाले हितग्राहियों को वन अधिकार पट्टा दिलाने, सहसपुर लोहारा विकासखंड के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र रणवीरपुर में बाऊण्ड्रीवाल करने, मॉडल आंगनबाड़ी केन्द्रों को टीवी प्रदान करने, चयनित स्कूलों में स्मार्ट क्लास शुरू करने, चालू वित्तीय वर्ष 2018-19 में निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप कौशल उन्नयन प्रशिक्षण देने एवं शालाओं में अध्ययनरत विद्यार्थियों का आधार पंजीयन कराने के निर्देश दिये।

बैठक में अपर कलेक्टर पीएस धु्रव, अपर कलेक्टर पी.के.मिश्रा, अनुविभागीय अधिकारी कवर्धा विपुल कुमार गुप्ता, अनुविभागीय अधिकारी बोड़ला अभिषेक अग्रवाल, अनुविभागीय अधिकारी पंडरिया अनिल कुमार सिदार सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

  • 3
    Shares